Frontpage Article SBA विशेष यात्रा रपट विविध समाचार स्वस्थ भारत अभियान स्वस्थ भारत यात्रा

जनऔषधि के समर्थन में है तेजपुर के डॉक्टर

जनऔषधि के समर्थन में है तेजपुर के डॉक्टर, ज्यादातर रोगियों को लिख रहे हैं जेनरिक दवाइयां
• तेजपुर के मरीजों को जनऔषधि के कारण हो रही है लाखों की बचत
• तेजपुर पहुंचने पर स्वस्थ भारत यात्रियों ने सिविल अस्पताल का लिया जायजा, डॉक्टरों से संतुष्ट दिखे मरीज

तेजपुर/20.03.19
पूरे देश में जहां जेनरिक दवा लिखने में चिकित्सक हिला-हवाली करते हुए नज़र आ रहे हैं वहीं असम राज्य के तेजपुर के चिकित्सक लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए उनको ज्यादा से ज्यादा जेनरिक दवा प्रिसक्राइव कर रहे हैं। डॉक्टरों के इस सहयोग से तेजपुर के मरीजों को हर महीने तकरीबन 55 लाख रुपये की बचत हो रही है। यह आंकड़ा उस समय सामने आया जब स्वस्थ भारत यात्रियों ने तेजपुर के सिविल अस्पताल का दौरा किया और यहां चल रहे जनऔषधि स्टोर की स्थिति का जायजा लिया। जनऔषधि स्टोर चला रहे फार्मासिस्ट संजय सिंग्हा ने बताया कि उनके स्टोर से प्रत्येक दिन 20 से 25 हजार रुपये की दवाइयां बिक जाती हैं। अगर इन दवाइयों का बाजार मूल्य देखा जाए तो ये 2 से 2.5 लाख के बराबर हैं। संजय के दिए आंकड़े को एक महीने के हिसाब से देखा जाए तो सिर्फ सिविल अस्पताल में चल रहे जनऔषधि केन्द्र से यहां के मरीजों को तकरीबन 55 लाख रुपये महीने की बचत हो रही है। स्वस्थ भारत यात्रियों से बातचीत करते हुए संजय ने बताया कि यहां जनऔषधि दवाइयों की मांग बहुत ज्यादा है। यदि आपूर्ति सही तरीके से हो तो उसकी बिक्री प्रत्येक दिन 40 से 50 हजार रुपये तक की हो सकती है।
स्वस्थ भारत यात्रियों ने सिविल अस्पताल के सुपरिटेंडेंट डॉ.रिनिद्वाराह से भी मुलाकात की। उन्होंने यात्रा के मकसद की सराहना करते हुए अपनी शुभकामना दी और जनऔषधि को और बढ़ावा दिए जाने पर बल दिया। उन्होंने सुझाव दिया कि यदि सभी जनऔषधि केन्द्र अपनी उपलब्ध दवाइयों की कीमत के साथ एक सूची प्रदर्शित करें तो लोगों को जनऔषधि के बारे में जानने-समझने में और सहुलियत होगी।
इस अवसर पर जनऔषधि विक्रेता की तारीफ करते हुए स्वस्थ भारत यात्रा प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि सरकार को प्रत्येक सरकारी अस्पताल में एक जनऔषधि केन्द्र खोलने चाहिए। इससे लोगों को कितना फायदा हो रहा है यह तेजपुर सिविल अस्पताल स्थित जनऔषधि केन्द्र पर मरीजों की जमघट को देखकर समझा जा सकता है।
गौरतलब है कि स्वस्थ भारत यात्रा विगत 50 दिनों से चल रही है। अभी तक 19 राज्यों का दौरा किया जा चुका है। 12 हजार किमी की इस यात्रा में विभिन्न राज्यों में 110 से अधिक कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं। यह यात्रा जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए महात्मा गांधी के 150वीं जयंती वर्ष पर साबरमती आश्रम से 30 जनवरी, 2019 को शुरू की गई है। इसका समापन 28 अप्रैल, 2019 को नई दिल्ली में होगा। इस यात्रा में वरिष्ठ गांधीवादी विचारक एवं पत्रकार प्रसून लतांत, प्रियंका सिंह एवं शंभू कुमार सहित सात सदस्य शामिल हैं।

Related posts

द लांसेट : जलवायु परिवर्तन से खाद्य उत्पादन पर पड़ने वाला प्रभाव वर्ष 2050 तक ले सकता है 05 लाख अतिरिक्त लोगों की जान

swasthadmin

जापानी बुखार से लड़ने के लिए हम तैयार हैंः जेपी नड्डा

swasthadmin

स्वस्थ भारत देश के सभी राज्यों में

आशुतोष कुमार सिंह

Leave a Comment