Frontpage Article SBA विशेष यात्रा रपट विविध समाचार स्वस्थ भारत अभियान स्वस्थ भारत यात्रा

दक्षिण भारत में सख्त सुरक्षा के बीच हुई पदयात्रा

स्वस्थ भारत यात्रा के मकसद के स्वागत में दक्षिण भारत में सख्त सुरक्षा के बीच हुई पदयात्रा
• पदयात्रा में शामिल हुआ स्वस्थ भारत यात्री दल, दिया यात्रा का संदेश
• भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने भी यात्री दल का बढाया हौसला
• जनऔषधि केन्द्रों का लिया जायजा, जरूरतमंदों के लिए सहायक साबित हो रहे हैं केन्द्र

त्रिची (तमिलनाडू) 11 फरवरी
केरल के कोच्चि से चलकर तमिलनाडू के त्रिची पहुंचने पर त्रिचीवासियों ने भारी सुरक्षा के बीच यात्रा के मकसद के स्वागत में रैली निकाली और यात्री दल के सदस्यों का पुष्प-गुच्छ देकर सम्मान किया। रैली में स्थानीय जनता सहित भारतीय जनता पार्टी के अनेक नेता और कार्यकर्ता भी शामिल हुए। रैली में लोगों के हाथों में जनऔषधि केन्द्र और स्वस्थ भारत संबंधी नारे लिखी तख्तियां थीं। रैली की अग्रिम कतार में चल रहे वाहन से तमिल भाषा में लगातार स्वस्थ भारत के मकसद को उद्घोषित किया जा रहा था। इस बीच लोग कभी-कभी गगनभेदी नारे भी लगा रहे थे। रैली गुजरने के रास्ते में दोनों तरफ कतार में भारी संख्या में लोग भी खड़े दिखे। रैली के साथ-साथ सुरक्षा बल के जवान भी चल रहे थे। इसके पूर्व यात्री दल के सदस्यों ने त्रिची स्थित जनऔषधि केन्द्रों का जायजा लिया। ये केन्द्र जरूरतमंद लोगों के लिए सहायक साबित हो रहे हैं। स्थानीय लोगों ने ऐसे केन्द्रों की संख्या बढ़ाने पर जोर दिया।
रैली का नेतृत्व स्वस्थ भारत यात्रा दल के प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने किया। इसमें वरिष्ठ गांधीवादी चिंतक व पत्रकार प्रसून लतांत, वरिष्ठ पत्रकार अशोक प्रियदर्शी, शिक्षाकर्मी प्रियंका सिंह, शंभू कुमार, विवेक शर्मा, विनोद रोहिल्ला, पवन कुमार और डॉ. सोम सहित स्थानीय भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता भारी संख्या में शामिल हुए। रैली में उल्लेखनीय संख्या में महिलाओं ने भी भाग लिया।
स्वस्थ भारत के लिए स्थानीय लोगों के द्वारा निकाली गयी उत्साहजनक रैली का स्वागत करते हुए यात्रा प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि हमें खुशी है कि देश के सर्वाधिक साफ-सुथरे शहर के रूप में विख्यात त्रिची में आने का हमें सुअवसर मिला है। उन्होंने कहा कि एक बेहतर स्वस्थ भारत के निर्माण में बेहतर चिकित्सा व्यवस्था के साथ-साथ साफ-सफाई की प्रवृति का होना भी जरूरी है।
इसके पूर्व यात्री दल के सदस्य थिरूपरम्वुर, शन्मूगर्वडिवेल, ऑयल मिल रोड, रेलवे वर्कशॉप रोड आदि में स्थित जनऔषधि केन्द्रों पर गए और उसका जायजा लिया। जनऔषधि केन्द्रों को सुचारू रूप से चलाने में आने वाली समस्याओं से रूबरू हुए। ऑयल मिल रोड पर स्थित जनऔषधि केन्द्र के संचालक जयचन्द्रण ने बताया कि इस इलाके में भेल, ओएफटी, एनआइटी आदि अनके कंपनियां हैं जहां देश भर के मजदूर काम करते हैं। इन मजदूरों के लिए ये केन्द्र बहुत कारगर साबित हो रहे हैं। स्टोर संचालकों का कहना है कि दवाइयों का रेंज और बढ़ाए जाने की जरूरत है साथ ही जो दवाइयां उपलब्ध हैं उनकी उपलब्धता सुनिश्चित हो।
इस अवसर पर तमिलानाडू के प्रदेश के बीपीपीआई के एमओ शक्तिश्वर सिंह ने बताया कि त्रिची में 30 जनऔषधि केन्द्र हैं तथा जल्द ही और केन्द्र खुलने वाले हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्रों की जो समस्याएं हैं उनका जल्द निराकरण कर लिया जायेगा।
संपर्क
9811128964, 9891228151

Related posts

स्कूली बच्चों को पर्यावरण रक्षक बनना चाहिए: डॉक्टर हर्षवर्द्धन

swasthadmin

68वें विश्व स्वास्थ्य सभा में स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा, पढिए भाषण का मूल अंश

swasthadmin

ड्रग कंट्रोलर ए.के.जैन का पुतला फूंका

swasthadmin

Leave a Comment