फार्मा सेक्टर

स्वास्थ्य आंदोलन की ओर अग्रसर फार्मासिस्टों के स्वागत में…

स्वस्थ भारत अभियान चाहता है कि आप स्वास्थ्य- मित्र बनें। देश की जनता के सेवक बनें। आप मेडिकल-फिल्ड की सही जानकारी लोगों को दें। हम तो यह भी चाहते हैं कि यदि आप तैयार हों तो आपका संपर्क-सूत्र आपके नाम व क्षेत्र के साथ इस वेबसाइट स्वस्थ भारत डॉट इन पर डाल दें। ताकि यदि किसी को स्वास्थ्य संबंधी कुछ पूछना हो तो आप उन्हें बता सकें। आप चाहे तों अपने ज्ञान से सरकार की तमाम योजनाओं के बारे में आम लोगों को जागरूक कर सकते हैं, जिनकी जानकारी के अभाव में सरकारी पैसा बाबुओं व दलालों की जेब में जा रहा है। सच्चाई तो यह है कि आपलोगों को देखकर ऐसा लग रहा है कि वह दिन दूर नहीं जब ‘स्वस्थ भारत’ का हम सब का सपना साकार होगा!

फार्मा सेक्टर समाचार

6 दिनों से भूखे अनशनकारियों को पीटा, जेल में डाला और बिना मेडिकल के छोड़ दिया है मरने के लिए

सबसे अमानवीय पक्ष यह है कि विनय कुमार भारती जो की पिछले 6 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं पहले तो उन्हें पुलिस ने मारा फिल जेल में बंद कर दिया वह भी बिना किसी मेडिकल चेकअप के…और अब उनसे मिलने भी नहीं दिया जा रहा है…
एक शांति के साथ आंदोलन कर रहे आंदोलनकारियों पर यूपी सरकार की पुलिस ने जिस बर्बरता के साथ पेश आई है वह ‪#‎मानवाअधिकार‬ का मामला बनता है…एक भूखे आदमी को पहले डंडा मारना फिर जेल में बंद करना वह भी बिना डॉक्टरी चेकअप के..

फार्मा सेक्टर समाचार

फार्मासिस्टों की हुई जीत…एफडीए ने माने अनशनकारियों की मांग…दूसरे मांग को लेकर आमरण अनशन अभी भी जारी

लखनऊ के लक्ष्मण मेले में चल रहे फार्मासिस्टों भूख हड़ताल के आगे यूपी एफडीए ने समर्पण करते हुए उनकी बात मान ली है। फार्मासिस्टों की मांग थी कि यूपी फार्मेसी को ऑनलाइन किया जाए, जिसे यूपी ड्रग कंट्रोलर एक.के मल्होत्रा ने मान लिया है। झारखंड से आए फार्मा एक्टिविस्ट धर्मेन्द्र सिंह की मध्यस्थता में यह फैसला लिया गया।

फार्मा सेक्टर समाचार

अनशनकारी फार्मासिस्ट मरें तो मरें मुझे फर्क नहीं पड़ता: ड्रग कंट्रोलर लखनऊ

ड्रग कंट्रोलर के रवैये को लेकर फार्मासिस्टों में जबरदस्त आक्रोश है ! अबतक अवैध और बगैर फार्मासिस्ट के चल रही दवा दुकानों को बंद करवाने की मांग कर रहे फार्मासिस्टों ने ड्रग कंट्रोलर की बर्खास्तगी की मांग की है ! बतातें चलें के विगत 1 मार्च से फार्मासिस्ट फाउंडेशन के बैनर तले भूख हड़ताल कर रहे है !

फार्मा सेक्टर समाचार

जयपुर में फार्मासिस्टों का जोरदार प्रदर्शन, सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में हजारों फार्मासिस्ट उतरे सड़क पर, विधानसभा का किया घेराव, चिकित्सा मंत्री व स्वास्थ्य सचिव को दिया ज्ञापन

फार्मासिस्ट जागृति संस्थान के अध्यक्ष सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में हुए इस आंदोलन से राजस्थान सरकार सकते में है। इस बावत संस्थान के मीडिया प्रभारी देवेन्द्र माधोपुर ने बताया कि हम चाहते हैं कि सरकार फार्मा मसले को गंभीरता लें, ताकि राजस्थान के स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सके। इस बीच इस आंदोलन को समर्थन देने के लिए दूसरे राज्यों से भी फार्मासिस्ट जयपुर पहुंचे थे। सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन, जमशेदपुर के अध्यक्ष धरमेन्द्र सिंह ने कहा कि जहां भी हमारे फार्मासिस्टों को आवाज की जरूरत होगी वहां पर सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन खड़ा रहेगा।

फार्मा सेक्टर समाचार

फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल तीसरे दिन भी जारी, हरकत में आया मुख्यमंत्री कार्यालय

लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में यूपी के फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल लगातार तीसरे दिन भी जारी है। उनकी मांग है कि जब तक मुख्यमंत्री आकर उनसे बात नहीं करते वे हड़ताल जारी रखेंगे। इस बावत फार्मासिस्ट फाउंडेशन के अमीत श्रीवास्तव ने कहा कि अब फार्मासिस्ट जाग गए हैं। देश की आम जनता के स्वास्थ्य के साथ हो रहे खिलवाड़ को हम सहन नहीं कर सकते हैं। वहीं जाने-माने फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने कहा कि अब समय आ गया है कि सभी फार्मासिस्ट एकजूट होकर मुद्दे की ल़ड़ाई लड़ें।

समाचार

‘स्वास्थ्य सुरक्षा योजना’ से बुजुर्गों को वित्तीय सुरक्षा मिलेगी : स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य क्षेत्र की योजनाओं का जिक्र करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र में तेजी लाने का प्रावधान किया गया है, जिसके लिए कई योजनाओं की घोषणाएं की गई हैं। उन्‍होंने कहा कि स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से पूरे परिवार को और खासतौर से वरिष्ठ नागरिकों को वित्तीय सुरक्षा मिलेगी। उन्होंने कहा कि देश भर में तीन हजार जन औषधि स्‍टोर खोले जाएंगे, जहां सस्‍ती दरों पर दवाइयां उपलब्‍ध होंगी। यह निश्चित रूप से नागरिकों के अनुकूल प्रावधान किया गया है।

समाचार

पांच करोड़ गरीब लोगों को धुएं से मुक्ति मिलेगीः प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि 5 करोड़ गरीब परिवार जो आज चूल्हा जलाते हैं उन्हें धुंए से मुक्ति मिलेगी। गरीब के स्वास्थ्य को लाभ होगा औ पर्यावरण की भी सुरक्षा होगी। स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमारी सरकार कई महत्वपूर्ण कदम उठा रही है। कभी-कभी एक आध बीमारी भी मध्यम वर्गीय परिवार, नव मध्यम वर्गीय परिवार और गरीब की जिन्दगी तबाह कर देती है और इसलिए बीमारी के समय उस परिवार के साथ खड़े रहने का इस सरकार ने निर्णय किया है। खासकर के वरिष्ठ नागरिकों जिनको इसकी सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है।

समाचार

बीपीएल परिवार की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन दिए जाने की घोषणा ऐतिहासिक : प्रधान

उज्‍जवला योजना प्रत्‍येक बीपीएल परिवार को एक एलपीजी कनेक्‍शन देने के लिए 1600 रुपये का वित्‍तीय समर्थन देती है। पात्र बीपीएल परिवारों की पहचान राज्‍य सरकारों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासनों की सलाह से किया जाएगा। बीपीएल परिवारों को नया कनेक्‍शन देते समय उन राज्‍यों और इलाकों को प्राथमिकता दी जाएगी जो कवर नहीं किए गए हैं। विशेषकर देश के पूर्वी क्षेत्र में। इसे प्रधानमंत्री के पूर्वी भारत के विकास विजन के अनुरूप लागू किया जाएगा।

समाचार

बजट 2016: नई स्वास्थ्य सुरक्षा योजना की होगी शुरूआत, प्रति परिवार 1 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा

देश की स्वास्थ्य व्यवस्था को नागरिकों के उम्र के हिसाब से तीन भागों में विभक्त करना चाहिए। 0-25 वर्ष तक, 26-59 वर्ष तक और 60 से मृत्युपर्यन्त। शुरू के 25 वर्ष और 60 वर्ष के बाद के नागरिकों के स्वास्थ्य की पूरी व्यवस्था निःशुल्क सरकार को करनी चाहिए। जहाँ तक 26-59 वर्ष तक के नागरिकों के स्वास्थ्य का प्रश्न है तो इन नागरिकों को अनिवार्य रूप से राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत लाना चाहिए। जो कमा रहे हैं उनसे बीमा राशि का प्रिमियम भरवाना चाहिए, जो बेरोजगार है उनकी नौकरी मिलने तक उनका प्रीमियम सरकार को भरना चाहिए।