Author : आशुतोष कुमार सिंह

https://www.swahbharat.in - 84 Posts - 0 Comments
आशुतोष कुमार सिंह वरिष्ठ स्वास्थ्य पत्रकार हैं। पिछले 6 वर्षों में कंट्रोल मेडिसिन मैक्सिमम रिटेल प्राइस, जेनरिक दवा लाइए पैसा बचाइए, अपनी दवा को जानें एवं स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज जैसे राष्ट्रीय कैंपेनों के माध्यम से देश की जनता को जागरूक करने का काम कर रहे हैं। इस संदर्भ में पिछले वर्ष 2017 में 21000 किमी की स्वस्थ भारत यात्रा का नेतृत्व करने का भी आपको अवसर प्राप्त हो चुका है। इस वेबपोर्टल के आप संपादक हैं।
समाचार

बेटियों के मसीहा डॉ. गणेश राख से मीलिए…

40 वर्षीय डॉ. राख एक जुनून का नाम है, जो बेटी बचाओं अभियान के संदेश को पूरे देश में फैलाना चाहता है। डॉ.राख एक ऐसे
SBA विशेष

पहले जानिएं फिर खाईए दवाई…

दरअसल किसी चीज को जानना मनुष्य का स्वभाविक गुण है। अमूमन वो अपने-आस पास होने-वाली हलचलों के कारणों को जानना चाहता है। इस जानने की
SBA विशेष

मानवता को बनाए रखने के लिए बेटियों को बचाना होगा…

इस पूरी समस्या का मनोविज्ञान यह है कि विकास के इस भागम-भाग की दौर में एक आम आदमी बेटी को पालने में खुद को असहज
SBA विशेष

वैश्विक होता ‘एंटीबायोटिक रेसिस्टेंसी’ का खतरा  

सार्वजनिक स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से एंटिबायोटिक का दुरुपयोग आज के समय में एक वैश्विक समस्या बनता जा रहा है। एंटीबायोटिक का बढ़ता रेसिस्टेंट शक्ति को
समाचार

‘किलकारी’ बतायेगा कि गर्भस्थ शिशु की तबीयत कैसी हो !

बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की दिशा में सरकार सक्रीय दिख रही है। तकनीक का का प्रयोग लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं बढाने में किया जा
समाचार

बेटी बचाओ का संदेशवाहक बनी डॉ.राखी अग्रवाल

यदि हम यह कहें कि पांच वर्ष से कम उम्र की आपकी बच्ची का अल्ट्रासाउंड निजी डायग्नोस्टिक सेंटर में बिना फी दिए करवा देंगे तो
SBA विशेष

निजी क्षेत्र की मदद से राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुधारना चाहती है सरकार!

भारत की बिगड़ते स्वास्थ्य का ईलाज सरकार निजी क्षेत्र के उद्यमियों से कराना चाहती है। स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डा ने देश की स्वास्थ्य सुविधाओं को
समाचार

बल्क ड्रग्स पर कटोच समिति की रिपोर्ट जल्द ही लागू की जाएगी : अनंत कुमार 

भारत सरकार यदि कटोच समिति रिपोर्ट को लागू करना चाहती है तो इस फार्मा सेक्टर के लिए वरदान कहा जा सकता है। कटोच समिति ने
SBA विशेष काम की बातें चिंतन

साहब! एड्स नहीं आंकड़ों का खेल कहिए…

आज चारों ओर बाजार का दबदबा है। उसने हमारे मनोभाव को इस कदर गुलाम बना लिया है कि हम उसके कहे को नकार नहीं पाते।
SBA विशेष

स्वास्थ्य क्षेत्रः वैश्विक स्तर पर कदम-ताल करता भारत…

बीमारियों को आप किसी भूगोल की सीमा में नहीं बांध सकते हैं। उनकी मारक क्षमता किसी परमाणु बम से कहीं ज्यादा है। ऐसे में बीमारियों

Login

X

Register