SBA विशेष

एमआर को ब्राइब एजेंट न समझें

मेरे 25 साल के अनुभव यह कहते हैं कि सरकार यदि चाहे तो ब्रांडेड दवाओं को भी मौजूदा व्यवस्था के तहत ही मरीजों को सस्ते व उचित दर पर उपलब्ध कराया जा सकता है वो है “अधिकतम खुदरा मूल्य की सीमा निर्धारित कर”। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा की सरकार ने जिन दवाओं के ऊपर प्राइस कंट्रोल आर्डर लगा रखा है वैसी दवाएं काफी सस्ते में मरीजों को उपलब्ध है।
दरअसल इस पुरे खेल के कई पहलू हैं जिसमें सबसे ऊपर बहुराष्ट्रीय दवा कंपनियों का दबाव है वो भारतीय दवा बाजार पर पूरी तरह एकाधिकार चाहती हैं उन्हें मरीजों के हित से कुछ लेना देना नहीं है। उनका मकसद जेनेरिक दवाओं के बहाने भारतीय दवा उद्योग के बढ़ते वैश्विक वर्चस्व को खत्म कर भारत के स्वदेशी दवा उद्योग को पूरी तरह नेस्तनाबूद कर लेने या लील जाने का है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

एम्स जैसी सुविधा आइएमएस बीएचयू में भी मिलेगी, दोनों संस्थानों के बीच हुआ समझौता

एम्स नई दिल्ली एवं बीएचयू स्थित आइएमस के बीच एक समझौता हुआ है। इस  समझौते  के तहत आइएमएस को एम्स की तरह गुणवत्तायुक्त बनाने पर सहमति बनी है। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड़्डा, मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेडकर, रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल उपस्थित थी।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम की पीएम ने की समीक्षा

भारत सरकार अपनी योजनाओं  को  धरातल पर लाने  के लिए बहुत सक्रीय हो चुकी है। इसी कड़ी में कल प्रधानमंत्री ने
प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम के शुरूआती तैयारियों की समीक्षा की।स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, नीति आयोग और प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के शीर्ष अधिकारियों ने राज्यों में तैयारियों और योजना से जुड़े तकनीकी आधारभूत संरचना के विकास सहित विभिन्न पहलुओं से प्रधानमंत्री को अवगत कराया।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
SBA विशेष साक्षात्कार

दक्षिण भारत की ज्ञान-परंपरा को उत्तर-भारत में बिखेर रहे हैं न्यूरो सर्जन डॉ.मनीष कुमार

बिहार की गलियो से निकलने वाले डॉ. मनीष कुमार दक्षिण भारत में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के बाद उत्तर-भारत के मरीजों के बीच लोकप्रिय होते जा रहे हैं। दिल्ली-एनसीआर ने भी उन्हें अपना लिया है। यह सब इसलिए संभव हो पाया है कि वे अपने मरीज के साथ ईमानदार हैं। उसकी जरूरत एवं आर्थिक स्थिति का भरपुर ख्याल रखते हैं। मौजूदा व्यवसायिक चिकित्सा तंत्र में मरीजों को मरीज की तरह महसूस करने वाले चिकित्सको आभाव होता जाता रहा है। इस अभाव को डॉ. मनीष कम करने में और बेहतर तरीके से अपनी भूमिका निभाएं एवं स्वस्थ भारत के सपने  को साकार करने में अपने हिस्से की आहूति प्रदान करें, यहीं कामना करता हूं

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार स्वस्थ भारत अभियान

तिलका माझी राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित होंगे ये डॉक्टर, जानिए क्या खास काम इन्होंने किया है

चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतरीन काम करने के लिए दिल्ली की डॉ ममता ठाकुर एवं बिहार के डॉ एन के आनंद को तिलका माझी राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। स्वस्थ भारत की मार्गदर्श मंडल सदस्या डॉ ममता ठाकुर पूर्वी दिल्ली में बालिकाओं को सर्वाइकल कैंसर के प्रति जागरूक कर रही हैं। वहीं बिहार के डॉ एन के आनंद ‘स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज’ कैम्पेन के तहत बालिकाओं का इलाज निःशुल्क करते हैं। बिहार के समस्तीपुर के अपने क्लीनिक में अभी तक 7000 से ज्यादा बेटियों को डॉ आनंद निःशुल्क ओपीडी कर चुके हैं। 
दोनों चिकित्सकों को स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक आशुतोष कुमार सिंह ने बधाईदेते हुए कहा कि इन जैसे चिकित्सकों के कारण ही समाज में चिकित्सकों का मान सम्मान बना हुआ है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
अस्पताल समाचार

सरकारी अस्पतालों में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव नहीं पढ़ा पाएंगे ब्रांडेड दवाइयों का पाठ,बिहार सरकार का क्रांतिकारी फैसला

मेडिकल क्षेत्र के लिए बिहार से एक बहुत ही क्रांतिकारी खबर सामने आ रही है। बिहार सरकार ने सरकारी अस्पतालों में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव को चिकित्सकों से मिलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार का तर्क है इससे जेनरिक दवाइयों की मुहिम को नुक्सान हो रहा है। साथ ही मरीजों को दिए जाने वाले समय में भी बाधा उत्पन्न हो रही है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
चिंतन मन की बात

स्वस्थ भारत के लिए जरूरी है गौसंरक्षण

गाय के स्वास्थ्य संबंधी पहलू इतने ज़्यादा महत्वपूर्ण है कि अगर एक बार इसे समझ जाएँ तो धार्मिक पक्ष आड़े नहीं आयेगा। अंग्रेजों ने भारत को बीमार करने और संसाधनों की लूट में ऐसा जहर बोया कि गाय के व्यापारिक पक्ष एवं गुंडा तत्व ने अन्य लाभ पीछे करवा दिये। गाय से जुड़े स्वास्थ्य संबन्धित विभिन्न वैज्ञानिक पक्षों को समझने के बाद हम गाय का आर्थिक मॉडल समझ जाते हैं। अमित त्यागी के यह आलेख इंगित कर रहा है कि  अगर हम गौ संवर्धन पर ध्यान दे पाये तो गौसंरक्षण खुद ब खुद हो जायेगा एवं भारत स्वस्थ भी हो जाएगा

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

Scientists help pave the way for a vaccine against TB

The scope for developing a new vaccine against the dreaded disease of Tuberculosis through the biological route has become brighter, with researchers at Kolkata-based Indian Institute of Chemical Biology (IICB) and Bose Institute identifying a potential trouble spot and figuring out ways to deal with it.

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
काम की बातें

डॉ. ममता ठाकुर ने सर्वाइकल कैंसर के बारे में बालिकाओं को किया जागरुक

दिल्ली भारत विकास फाउंडेशन भवन में सर्वाइकल कैंसर को लेकर बालिकाओं को जागरुक किया गया। इस अवसर पर स्वस्थ भारत अभियान की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं जानी-मानी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. ममता ठाकुर ने बालिकाओं सर्वाइकल कैंसर से बचने के उपाय बताए। डॉ. ठाकुर पूरी दिल्ली में सर्वाइकल कैंसर को लेकर जागरुकता कैंपेन  चला रही हैं।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

Homoeopathy pharmacies in India do not have trained pharmacy staff: Dr Kant

More than ninety per cent of homoeopathy pharmacies across the India do not have qualified pharmacy staff – the reason, as pointed out by AYUSH Department is the absence of a formal training course. The situation forces hospital authorities to run pharmacies with unqualified staff, which is a matter of worry as chances are very high that the patients may get wrong medicines. 

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें