काम की बातें बचाव एवं उपचार रोग समाचार

लिवर से संबंधित बिमारी आ ओकर बचाव

जब लिवर मे कवनो संक्रमण , सूजन चाहे कवनो तरह के विकार से संबंघित लक्छण के हेपाटाइटिस चाहे आम भाषा मे पीलिया भा जॉन्डिस कहल जाला।

SBA विशेष काम की बातें चिंतन

साहब! एड्स नहीं आंकड़ों का खेल कहिए…

आज चारों ओर बाजार का दबदबा है। उसने हमारे मनोभाव को इस कदर गुलाम बना लिया है कि हम उसके कहे को नकार नहीं पाते। वह जो कहता है, वही जीवन-आधार और सुख का मानक हो जाता है! इसी बाजार ने एक बीमारी दी, जिसको वर्तमान में एड्स के नाम से जाना जाता है। इसके लिए बाजार ने बहुत ही शातिर तरीके से सुख-खोजी प्रवृत्ति को सुख-भोगी बना दिया है! भोग-बाजार के विस्तार ने पारिवारिक ढांचे को तहस-नहस कर दिया, संबंध और रिश्तों के अनुशासन को बाजार के हवाले कर दिया और जरूरतों को वस्तुवादी बना दिया। फिर हम खुद भी बाजार के लिए एक वस्तु बन गए! वर्तमान में बीमारियों में सबसे बड़े ब्रांड के रूप में एड्स की पहचान है! पहले भोगी बना कर बाजार ने कमाई की और अब उसके दुष्परिणाम को बेच कर बाजार अपना विस्तार पा रहा है। बाजार-विस्तार को सूक्ष्मता से निरीक्षण करने पर मालूम चलता है कि बाजार ने हमें बीमारू किस तरह से बना दिया है।

SBA विशेष स्वास्थ्य मित्र

…और बिनोद कुमार की पहल रंग लायी

स्वस्थ भारत अभियान से विशेष बातचीत में बिनोद कुमार ने बताया की फार्मा सेक्टर में रोजगार की कमी नहीं है ! दवा के उत्पादन से लेकर वितरण तक में फार्मासिस्टों की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है। सरकारी लिपापोती के कारण आज भी फार्मासिस्ट दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं ! महज़ ड्रग एंड कास्मेटिक एक्ट 1940 और फार्मेसी एक्ट 1948 को ठीक से लागू कर दिया जाए तो देश के लाखों बेरोजगार फार्मासिस्टों को रोजगार मिल जाए और आम लोगों को सुरक्षित तरीके से दवा। फार्मेसी प्रैक्टिस रेगुलेशन 2015 के लागू होने से फार्मासिस्टों का मान सम्मान बढ़ेगा !

चिकित्सक संवेदनशील बनें
SBA विशेष अस्पताल

देश के गरीबों को ध्‍यान में रखें चिकित्सकः प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सर्वांगीण स्‍वास्‍थ्‍य सेवा संबंधी विश्‍व रुझानों का उल्‍लेख किया। उन्‍होंने उत्‍तीर्ण छात्रों से आग्रह किया कि वे केवल बीमारी का इलाज न करें बल्‍कि मरीजों के साथ निकट का संबंध भी रखें। समारोह में निकट के सरकारी स्‍कूलों के बच्‍चों की उपस्‍थिति को देखकर प्रधानमंत्री ने कहा कि ये बच्‍चे ही इस अवसर पर असली विशेष अतिथि हैं। उन्‍होंने आशा व्‍यक्‍त की कि यह अवसर बच्‍चों को प्रेरित करेगा।

अस्पताल समाचार

संसदीय समिति ने लगाई स्वास्थ्य मंत्रालय को फटकार

राज्य सभा सांसद सतीश चंद्र मिश्र की अगुवाई वाली संसद की स्थाई समिति ने कहा है कि चिकित्सा जगत में शोध व विकास के मामले में देश ही नहीं दुनिया में भी अग्रणी रहे संस्थान एम्स में शोध व विकास की सारी जरूरतें न केवल सरकार पूरी करे बल्कि इसकी लोकतांत्रिक जवाबदेही भी है। की जाए। इससे न केवल जनस्वास्थ्य के लक्ष्य को पूरा किया जा सकता है बल्कि इसी तरह से कंपनी प्रायोजित शोध व विकास का उन्मूलन किया जा सकता है।
समिति ने कहा है कि जनता के पैसों से स्थापित एम्स को जरूरत के हिसाब से देश के तमाम दूसरे सरकारी मेडिकल कालेजों के साथ या दुनिया के नामी स्वस्थ्य केंद्रों के साथ साझीदारी की जरूरत हो तो वह किया जा सकता है। शोध भी ऐसा किया जाए जिसका जनता को सीधे लाभ मिले न कि लैब में बंद पड़े रहने वाले शोध किए जाय। जरूर हो तो केवल उच्च शिक्षा ही संस्थान में कराई जाय।

गैर सरकारी संगठन

दिल्ली में देश भर के एनएचएम कर्मियों की होगी जुटान, सरकार को घेरने की बनेगी योजना

AINHMA की बैठक 14 जून को देश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य परियोज़ना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में अनुबंध पर काम करने वाले कर्मचारी अपनी स्थाईकरण की मांग को लेकर लामबंद हो रहे है ! विदित है की देश भर में लाखों की संख्या में चिकित्सक, पैरामेडिकल समेत लाखों कर्मचारी बर्षों से अपनी सेवा दे रहे हैं। […]

SBA विशेष काम की बातें स्वस्थ भारत अभियान

करें योग, रहें निरोग

आचार्य डॉ. अनल देव धीरे-धीरे आसन के संबंध में आम समाज की रुचि बढ़ी है। आसन के संबंध में कम शब्दों में कुछ कहा जाए तो यह शांत, सुखी और स्थिर रहने की विधि है। योग का महत्व बढ़ा आज के महानगरीय जीवन शैली  में जहां सब धीरे-धीरे व्यस्त और मशीनों पर निर्भर होते जा रहे […]

SBA विशेष दस्तावेज

बजट और स्वास्थ्यःस्वस्थ भारत का सपना

एक पुरानी और सर्वमान्य संकल्पना है कि पढ़ाई, दवाई और लड़ाई यानी कि शिक्षा, स्वास्थ्य और न्याय तीनों पूरी तरह निःशुल्क होने चाहिएं। स्वाधीन भारत के संविधान निर्माताओं ने संभवतः इसी बात को ध्यान में रख कर भारत को एक कल्याणकारी राज्य घोषित किया था और इसको ही ध्यान में रख कर सरकार हर वर्ष […]