6 दिनों से भूखे अनशनकारियों को पीटा, जेल में डाला और बिना मेडिकल के छोड़ दिया है मरने के लिए

pharmacit-lathicharge-lucknow

 

यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा,‪#‎यूपी‬ पुलिस ने फार्मासिस्टों पर भांजी लाठियां…

ध्यान से देखिए इन तस्वीरों को… अमीत श्रीवास्तव व विनय कुमार भारती की अगुवाई में यूपी में फार्मासिस्टों ने अपनी मांगों को रखा है…

आज इनकी टीम अपनी मांगों को सरकार के पास पहुंचाने के लिए शांतिपूर्ण तरीके से लक्ष्मण मेला, लखनऊ से विधानसभा तक का मार्च करने के लिए निकली थी…रास्ते में ही पुलिस ने रोका…पीटा और जेल में डाल दिया…
अभी रात के 11 बजे तक सूचना यह है कि विनय कुमार भारती और उनके दो और साथियों को पुलिस ने जेल में आईपीसी की धारा 323,326 और 353 लगाकर बंद कर दिया है…

exclusive tasveer vinay-1
सबसे अमानवीय पक्ष यह है कि विनय कुमार भारती जो की पिछले 6 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं पहले तो उन्हें पुलिस ने मारा फिल जेल में बंद कर दिया वह भी बिना किसी मेडिकल चेकअप के…और अब उनसे मिलने भी नहीं दिया जा रहा है…
एक शांति के साथ आंदोलन कर रहे आंदोलनकारियों पर यूपी सरकार की पुलिस ने जिस बर्बरता के साथ पेश आई है वह ‪#‎मानवाअधिकार‬ का मामला बनता है…एक भूखे आदमी को पहले डंडा मारना फिर जेल में बंद करना वह भी बिना डॉक्टरी चेकअप के…
Akhilesh Yadav जी यह आपकी सरकार के लिए बहुत ही शर्म की बात है…इस मसले पर आपको प्रशासन से कारण बताओं नोटिस लेना चाहिए…ये ‪#‎फार्मासिस्ट‬ तो आपको सहयोग कर रहे हैं मुख्यमंत्री जी…ये व्यवस्था में व्याप्त कमियों को दूर करने की ही तो बात कर रहे हैं…इनकी बात पूरे राज्य के हित में है।

pulish

पिछले 6 दिनों से लगातार फार्मासिस्टों के अनशन को देख रहा हूं। शांतिपूर्विक तरीके से वो अनशन कर रहे थे…आज सांकेतिक रूप से विधानसभा घेरकर अपनी मांगो की ओर सरकार का ध्यान आकृष्ठ कराना चाह रहे थे। बदले में लक्ष्ममेला मैदान, लखनऊ में यूपी पुलिस ने उनपर लाठियां बरसाई…कई फार्मासिस्टों के हाथ टूट गए , कइयों के पैर में चोट आई हैं…विनय कुमार भारती सहित उनके तीन सााथियों को हजरतगंज थाने में पिछले 4 घंटे से बिठा कर रखा गया है…कितना जुल्म करेगी यूपी पुलिस।

4सरकार को याद रखना चाहिए जिनपर वो लाठिया भांज रहें हैं वो स्वास्थ्य के रक्षक हैं। उनको अस्वस्थ कर के आप राज्य को स्वस्थ रखने का सपना नहीं देख सकते हैं…
मेरी बात जब हजरतगंज के थाना प्रभारी से हुई तो उनका कहना था कि अनशनकारियों को न्यायालय में पेश करना है।
कोई बतायेगा कि आखिर उनकी गलती क्या है…वे यहीं न चाह रहे हैं कि राज्य को स्वस्थ रखा जाए…वे यह ही चाह रहे हैं न राज्य दवा देने का अधिकार फार्मासिस्ट को जो है, उसका अनुपालन हो…इसमें बुराई क्या है…
अगर इसी तरह स्वास्थ्य के रक्षकों पर पुलिस का डंडा चलता रहा तो क्या यूपी अपने स्वास्थ्य की रक्षा कर पायेगा। ‪#‎अखिलेशयादव‬ जी आपको इस मामले का संज्ञान लेना चाहिए।
गिरफ्तार फार्मासिस्टों को जल्द से जल्द रिहा करने की मांग स्वस्थ भारत अभियान करता है।

नोटः लखनऊ के हजरतगंज थाने में तीन फार्मासिस्टों को यूपी पुलिस रखी हुई है…किसी से उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है।

आपका
आशुतोष कुमार सिंह
संयोेजक, स्वस्थ भारत अभियान

फार्मासिस्टों की हुई जीत…एफडीए ने माने अनशनकारियों की मांग…दूसरे मांग को लेकर आमरण अनशन अभी भी जारी

कल यूपी विधानसभा पर धावा बोलेंगे फार्मासिस्ट

victory vinayनईदिल्ली/लखनऊ

लखनऊ के लक्ष्मण मेले में चल रहे फार्मासिस्टों भूख हड़ताल के आगे यूपी एफडीए ने समर्पण करते हुए उनकी बात मान ली है। फार्मासिस्टों की मांग थी कि यूपी फार्मेसी को ऑनलाइन किया जाए, जिसे यूपी ड्रग कंट्रोलर एक.के मल्होत्रा ने मान लिया है। झारखंड से आए फार्मा एक्टिविस्ट धर्मेन्द्र सिंह की मध्यस्थता में यह फैसला लिया गया।

इस जीत से फार्मासिस्टों में खुशी का माहौल है। इस बावत फार्मासिस्ट फाउंडेशन के अध्यक्ष अमीत श्रीवास्तव ने बताया एफडीए अधिकारियों ने आज पांचवे दिन माना कि फार्मेसी काउंसिल की गतिविधियों को ऑनलाइन किया जायेगा।

vinay apllicationपहली मांग के मिलने के बाद फार्मासिस्टों का उत्साह दूगुना हो गया है। अब अपनी दूसरी मांग को लेकर कल यानी 6 मार्च को विधानसभा का सांकेतिक घेराव करने वाले हैं। इस बावत श्री अमीत ने बताया कि लक्ष्मण मेला से हमारी टीम सीधे विधानसभा का रूख करेगी। अगर पुलिस रोकती है तो गिरफ्तारी देंगे लेकिन हर हाल में अपनी मांगों को मना के ही रहेंगे। गौरतलब है कि फार्मासिस्ट चाह रहे हैं कि एएनएम द्वारा दवाइयां बांटा जाना गैरकानूनी है। एएनएम की जगह दवाई के बांटने का मौका फार्मासिस्टों को मिलना चाहिए।

vinayइस आंदोलन में भाग लेने के लिए पूरे यूपी से फार्मासिस्टों का झूंड लखनऊ सुबह 11 बजे तक पहुंचने वाला है।

फार्मासिस्टों की पहली जीत पर स्वस्थ भारत अभियान से जुड़े पर्यावरणविद धीप्रज्ञ द्विवेदी ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कि अखिलेश सरकार का यह फैसला स्वागत योग्य है। हम चाहते हैं कि सरकार जल्द से जल्द फार्मेसी काउंसिल के क्रियाकलापों को ऑनलाइन करें ताकि धांधली को रोका जा सके। इस बावत हमने सीएम को चिट्ठी भी लिखी थी।

अनशनकारी फार्मासिस्ट मरें तो मरें मुझे फर्क नहीं पड़ता: ड्रग कंट्रोलर लखनऊ

अनशनकारियों की तबीयत लगातार खराब हो रही है। यूपी सरकार सो  रही है।
fda up
नई दिल्ली/लखनऊ
गोमती नदी के किनारे लक्ष्मण मेला मैदान में पिछले चार दिनों से अनसन कर रहे फार्मासिस्टों का प्रदर्शन जारी है ! इसी क्रम में फार्मासिस्ट फाउंडेशन का एक प्रतिनिधि मंडल ड्रग कंट्रोलर से मिला ! मुलाकात के क्रम में ड्रग कंट्रोलर ए. के. मल्होत्रा ने अपना पल्ला झाड़ते हुए साफ तौर पर कहा की अनशनकारी मरें तो मरें मुझे कोई फर्क नहीं ! ड्रग कंट्रोलर के रवैये को लेकर फार्मासिस्टों में जबरदस्त आक्रोश है ! अबतक अवैध और बगैर फार्मासिस्ट के चल रही दवा दुकानों को बंद करवाने की मांग कर रहे फार्मासिस्टों ने ड्रग कंट्रोलर की बर्खास्तगी की मांग की है ! बतातें चलें के विगत 1 मार्च से फार्मासिस्ट फाउंडेशन के बैनर तले भूख हड़ताल कर रहे है ! यूपी में चल रहे आंदोलन को अब मध्य प्रदेश, झारखण्ड के साथ कई अन्य राज्यों के फार्मासिस्ट संगठनों का समर्थन मिलने लगा है ! ६ मार्च को घेरेंगे विधानसभा फार्मासिस्ट फाउंडेशन के अध्यक्ष अमीत श्रीवास्तव ने विधान सभा को घेरने का एेलान किया है, वही फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने कहा की अनसन जारी रहेगा ! आंदोलन पहले से और तेज़ किया जायेगा !
 fda 2

यूपी के फार्मा-आंदोलन के समर्थन में आया स्वस्थ भारत अभियान, लिखा यूपी के सीएम को पत्र, फार्मासिस्टों के मांग को जल्द पूरा करने की मांग

letter to cm up

नई दिल्ली/लखनऊ

पिछले तीन दिनों से लगातार भूख हड़ताल पर बैठे यूपी के फार्मासिस्टों के समर्थन में स्वस्थ भारत अभियान भी आ गया  है। स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक आशुतोष कुमार सिंह ने अभियान की ओर से यूपी के मुख्यमंंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखकर फार्मासिस्टों के जायज़ मांगों को मानने की अपील की है। श्री आशुतोष ने अपने लिखे पत्र में कहा है कि ”स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक होने के नाते मैं आपसे आग्रह करता हूं कि फार्मासिस्टों की मांग को जल्द से जल्द पूर्ण करें ताकि आपकी सरकार कि छवि  बेहतर हो सके। यहां पर मैं यह बताना चाहता हूं कि स्वास्थ्य क्षेत्र में फार्मासिस्टों को मेडिसिन का डॉक्टर कहा जाता है।यूपी में फार्मासिस्ट फाउंडेशन के बैनर तले लक्ष्मण मेला में चल रहे फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल जितना जल्द खत्म होगा उतना ही अच्छा संदेश  जायेगा।” tisra din

 

 

जयपुर में फार्मासिस्टों का जोरदार प्रदर्शन, सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में हजारों फार्मासिस्ट उतरे सड़क पर, विधानसभा का किया घेराव, चिकित्सा मंत्री व स्वास्थ्य सचिव को दिया ज्ञापन

 

jaipur 5 frontनई दिल्ली/जयपुर

आज तड़के 11 बजे जयपुर के फार्मासिस्टों ने विधानसभा सड़क को जाम कर दिया। फार्मा क्षेत्र में उपजे भ्रष्टाचार को खत्म करने व जहां दवा वहां फार्मासिस्ट की बहाली के मसले पर फार्मासिस्ट नाराज़ थे। फार्मासिस्ट जागृति संस्थान, राजस्थान के बैनर तले राज्य भर के तकरीबन 1000 फार्मासिस्टोें ने इस प्रदर्शन में हिस्सा लिया। इस मौके पर फार्मासिस्टों ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौर व स्वास्थ्य सचिव मुकेश शर्मा को अपना ज्ञापन सौंपा।

jaipur 4फार्मासिस्ट जागृति संस्थान के अध्यक्ष सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में हुए इस आंदोलन से राजस्थान सरकार सकते में है। इस बावत संस्थान के मीडिया प्रभारी देवेन्द्र माधोपुर ने बताया कि हम चाहते हैं कि सरकार फार्मा मसले को गंभीरता लें, ताकि राजस्थान के स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सके। इस बीच इस आंदोलन को समर्थन देने के लिए दूसरे राज्यों से भी फार्मासिस्ट जयपुर पहुंचे थे। सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन, जमशेदपुर के अध्यक्ष  धरमेन्द्र सिंह ने कहा कि जहां भी हमारे फार्मासिस्टों को आवाज की जरूरत होगी वहां पर सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन खड़ा रहेगा।

jaipur pharma
उधर लखनऊ में फार्मा मसले को लेकर आमरण अनसन पर बैठे फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने स्वस्थ भारत को बताया कि आज पूरे देश के फार्मासिस्ट एकजूट हो चुके हैं। फार्मा मसले पर सभी में एकता है। इसी एकता के बल पर आज पूरे देश में फार्मासिस्ट अपनी उपस्थिति को दर्ज करा पाएं हैं और अपने हक़ को प्राप्त कर रहे हैं।

jaipur pharma 1

इस प्रदर्शन में आए फार्मासिस्टों के प्रति आभार प्रकट करते हुए फार्मासिस्ट जागृति संस्थान के मुखिया सर्वेश्वर शर्मा ने कहा कि आज हमारे फार्मासिस्ट भाई अपने हक़ को समझने लगे हैं, साथ ही अपने कर्तव्यों को भी वे भलीभांति पहचान रहे हैं। ऐसे में इनका साथ ही हमें मजबूत कर रहा है।  इस प्रदर्शन में जितेन्द्र सिंह, शशिकांत सिंह, शिवकरण मील सहित हजारों फार्मा एक्टिविस्टों ने भाग लिया।

गौतलब है कि इस आंदोलन को स्वस्थ भारत अभियान ने भी अपना समर्थन दिया है।

तस्वीरों की नज़र में जयपुर आंदोलन

हम से जो टकरायेगा चूर-चूर हो जायेगा...

हम से जो टकरायेगा चूर-चूर हो जायेगा…

हम आएं हैं झारखंड से...

हम आएं हैं झारखंड से…

राजस्थान की ताकत

राजस्थान की ताकत

 

 

फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल तीसरे दिन भी जारी, हरकत में आया मुख्यमंत्री कार्यालय

tisra din

नई  दिल्ली/लखनऊ

लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में यूपी के फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल लगातार तीसरे दिन भी जारी है। उनकी मांग है कि जब तक मुख्यमंत्री आकर उनसे बात नहीं करते वे हड़ताल जारी रखेंगे। इस बावत फार्मासिस्ट फाउंडेशन के अमीत श्रीवास्तव ने कहा कि अब फार्मासिस्ट जाग गए हैं। देश की आम जनता के स्वास्थ्य के साथ हो रहे खिलवाड़ को हम सहन नहीं कर सकते हैं। वहीं जाने-माने फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने कहा कि अब समय आ गया है कि सभी फार्मासिस्ट एकजूट होकर मुद्दे की ल़ड़ाई लड़ें।

उधर मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी धरना स्थल पर पहुंचकर धऱनाकर्मियों से बातचीत कर रहे हैं। फार्मासिस्टों का ज्ञापन  राज्यपाल व मुख्यमंत्री तक पहुंचा दिया गया है।

वहीं इस बावत स्वस्थ भारत अभियान की ओर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एक पत्र लिखा गया है, जिसमें कहा गया है कि वे फार्मासिस्टों की मांग जल्द से जल्द सुनें।

 

जयपुर में सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में फार्मासिस्टों का आंदोलन 3 मार्च को

 

jaipur

नई दिल्ली/जयपुर

जयपुर में 3 मार्च को फार्मासिस्ट जागृति संस्थान, राजस्थान के बैनर तले सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में राजस्थान के फार्मासिस्ट अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतरने जा रहे हैं। फार्मासिस्टों के साथ हो रहे नाइंसाफी के खिलाफ पूरे देश के फार्मासिस्ट एकजूट हो चुके हैं। जयपुर में सर्वेश्वर शर्मा की टीम को सपोर्ट करने के लिए सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन के सदस्य धरमेन्द्र सिंह की अगुवाई में जयपुर पहुंच रहे हैं। सच्चाई तो यह है कि दवाइयां किराना के समान की तरह कहीं भी बेची-खरीदी जा रही है। ड्रग कॉस्मेटिक्स एक्ट की परवाह न तो दवा दुकानदार को है और न ही सरकार को। इस बावत शिवकरण मील ने बताया कि यह आंदोलन प्रदेश में हो रहे ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के उलंघन के खिलाफ है। साथ ही मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा  केन्द्रों पर 1209 फार्मासिस्टों की बहाली प्रक्रिया पूरी करने व पूर्व में स्वीकृत 2112 पदों पर नियुक्ति देने, डीसीओ की परीक्षा करवाने, फार्मेसी इंस्पेक्टर की नियुक्ति करवाने व ग्रेड पे 3600 से 4200 करवाने के लिए किया जा रहा है। गौरतलब है कि प्रदेश में 46 हजार फार्मासिस्ट बेरोजगार हैं।

स्वस्थ भारत अभियान का समर्थन

देश को स्वस्थ देखने के उद्देश्य से चलाए जा रहे स्वस्थ भारत अभियान के संयोजक आशुतोष कुमार सिंह ने अमीत श्रीवास्तव की टीम को शुभकामनाएं प्रेषित किया है। आशुतोष  कुमार सिंह ने कहा है कि देश के स्वास्थ्य क्षेत्र में फार्मासिस्टों की उपस्थिति शरीर में रीढ़ के हड्डी के समान है। अतः उन्हें उनका पूर्ण अधिकार दिया जाना चाहिए ताकि आम लोगों को सही हाथों से सही दवाई मिल सके। उन्होंने कहा सच तो यह है कि इस समय पूरा देश फार्मा क्रांति के दौर से गुजर रहा है।

फार्मासिस्टों की भूख हड़ताल दूसरे दिन भी जारी, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर ही रखेंगे अपनी बात

नई दिल्ली/लखनऊ

dharanaलखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में यूपी के फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल लगातार दूसरे दिन भी जारी है। उनकी मांग है कि जबतक मुख्यमंत्री आकर उनसे बात नहीं करते वे हड़ताल जारी रखेंगे। इस बावत फार्मासिस्ट फाउंडेशन के अमीत श्रीवास्तव ने कहा कि अब फार्मासिस्ट जाग गए हैं। देश की आम जनता के स्वास्थ्य के साथ हो रहे खिलवाड़ को हम सहन नहीं कर सकते हैं। वहीं जाने-माने फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने कहा कि अब समय आ गया है कि सभी फार्मासिस्ट एकजूट होकर मुद्दे की ल़ड़ाई लड़ें।

पीसीआई प्रेसिडेंट बी सुरेश और आंदोलनकारी फार्मासिस्टों के बीच झड़प का विडिओ हुवा वायरल

 

बिगत 17 अगस्त 2015 को दिल्ली जंतर मंतर पर धरना दे रहे देश भर के फार्मा एक्टिविस्ट अचानक उठे और फार्मेसी काउंसिल ऑफ़ इंडिया के दफ्तर को कब्जे में में ले लिया । आंदोलनकारी फार्मासिस्टों और पीसीआई प्रेसिडेंट बी सुरेश की बीच तीखी बहस हुई। इस विवादित विडिओ को झारखण्ड के फार्मा एक्टिविस्ट अरविन्द झा ने अपने फेसबुक पर डाल दिया है । वीडियो वायरल होने से पीसीआई प्रेसिडेंट डॉ. बी सुरेश की जहाँ जमकर आलोचना हो रही है, वही देश भर में फार्मासिस्टों का आक्रोश उबल पड़ा है।

विडिओ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें !!

आंदोलनकारी फार्मासिस्टों और पीसीआई प्रेसिडेंट डॉ. बी सुरेश से झड़प का वायरल विडिओ

आंदोलनकारी फार्मासिस्टों और पीसीआई प्रेसिडेंट डॉ. बी सुरेश से झड़प का वायरल विडिओ

 

 

फार्मासिस्ट फाउंडेशन ने बनारस में निकाली जागरूकता रैली

बनारस / 25.02.2016

फार्मासिस्ट फाउंडेशन की बनारस शाखा के सदस्यों ने संस्कृत विश्वविधालय से लेकर कचहरी तक जागरूकता रैली निकली और डीएम के नाम ज्ञापन सौपा । रैली को सम्बोधित करते हुवे फार्मासिस्ट फाउंडेशन के जनपद अध्यक्ष अभय वर्मा ने कहा की पुरे प्रदेश में अप्रशिक्षित लोगों द्वारा दवा बेचने का काम किया जा रहा है जो आमजन के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है। अभय ने बताया की बनारस में सैकड़ों दवा दुकानों के ड्रग लाइसेंस फ़र्ज़ी तरीके से बनाये गए है, जिसमे आठवी फेल तक धड़ल्ले से दवा बांटते है। रैली के दौरान सदस्यों ने पम्पलेट बांटे और लोगों से दवा खरीदते समय सावधानी बरतने को कहा । फार्मासिस्टों ने लोगों से अपील की कि वे दवा फार्मासिस्ट से ही लें । बतातें चलें की  1 मार्च को लखनऊ में फार्मासिस्ट फाउंडेशन समेत अन्य फार्मासिस्ट संगठन अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल पर जा रहे है जिसमे अन्य राज्यों के फार्मासिस्ट संगठन भी शामिल हो रहे है।

 

बनारस की सडकों पर उतरी फार्मासिस्ट फाउंडेशन की टीम

बनारस की सडकों पर उतरी फार्मासिस्ट फाउंडेशन की टीम

डीएम को सौपा ज्ञापन की करवाई की मांग

फार्मासिस्ट फाउंडेशन ने रैली का समापन कर बाराणसी के डीएम को ज्ञापन सौपकर अवैध दवा दुकानों पर करवाई की मांग की है।  मांग पत्र में बगैर लाइसेंस के दवा दुकानों के सञ्चालन, बगैर फार्मासिस्टों के दवा वितरण पर रोक के अलावा ड्रग लाइसेंसिंग प्रक्रिया को पूर्णतः ऑनलाइन करने के साथ साथ भ्रष्ट एफडीए अधिकारीयों पर नकेल कसने की बात कही है ।

डीएम को ज्ञापन सौपते अमित श्रीवास्तव की टीम

डीएम को ज्ञापन सौपते अमित श्रीवास्तव की टीम

अमित श्रीवास्तव कर रहे है प्रदेश का दौरा

इस समय पुरे प्रदेश में फार्मासिस्ट फाउंडेशन की टीम काफी सक्रियता से लोगों को जागरूक कर रही है । फाउंडेशन के प्रदेशाध्यक्ष अमित श्रीवास्तव ने खुद कमान सँभाल रखी है। अमित ने बताया की यूपी की सभी जनपदों में सदस्यों की जबाबदेही तय की गई है की वे एफडीए में व्याप्त भ्रस्टाचार और दवा विक्रेताओं के साथ सांठ गांठ को उजागर कर जनता के सामने रखें। अमित ने आगे बताया की हर जनपद में जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। ताकि लोग दवा के दुष्प्रभाव को जान सकें और सुरक्षित रहें।

रक्त दान कार्यक्रम का आयोजन

रैली के दौरान फार्मासिस्ट फाउंडेशन के सदस्यों ने रक्त दान कर मानवता का परिचय दिया । अभय कुमार ने बताया की फार्मासिस्ट फाउंडेशन आमजन के हितों के लिए सदैव तत्पर है। उन्होंने समय समय पर रक्तदान कार्यक्रम आयोजन करते रहने की बात कही है।

रक्तदान करते फाउंडेशन के सदस्य

रक्तदान करते फाउंडेशन के सदस्य

 

 

संबंधित खबरें:

यूपी के फार्मासस्टों को भरमा रहे हैं ड्रग कंट्रोलर !

लखनऊ: हाईकोर्ट के सामने सड़क पर बिकती रही दवा प्रशासन बेखबर

…तो फार्मासिस्टों पर लाठीचार्ज की तैयारी थी।

यूपी: अवैध दवा दुकानों के प्रकरण पर PIL दाखिल