फार्मा सेक्टर

IPGA का सेमिनार 25 जून को पटना में

आईपीजीए सेंट्रल कमिटी के वाईस चेयरमैन श्रीपति सिंह ने बताया की 25 जून की सुबह दिल्ली व अन्य शहरों से राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य पटना पहुंच रहे हैं श्रीपति सिंह ने बताया की ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया डॉ. जी. एन. सिंह के आने की प्रबल सम्भावना है । इस कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री समेत कई मंत्रियों को भी न्योता दिया है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर

केमिस्ट ने मंत्री जी को खिलाई गलत दवा औषधि नियंत्रण प्रशाशन रेस

आल इंडिया केमिस्ट एंड ड्रिस्ट्रीब्यूशन फ़ेडरेशन के महासचिव गितेश्वर चंद्राकर ने बताया, ”दवा दुकान को बंद कर दिया गया और फिर नगरीय प्रशासन विभाग का अमला पुलिस के साथ दुकान तोड़ने के लिए आ पहुंचा. हमारे विरोध के बाद कहीं जाकर कार्रवाई रोकी गई। चंद्राकर का कहना था कि इस घटना के बाद राज्य भर के मेडिकल और केमिस्ट का व्यवसाय करने वालों में भय का वातावरण है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर

बगैर फार्मासिस्ट की सलाह के दवा लेना खतरनाक – क्षितिज

अक्सर देखा गया है की रोज की व्यस्त दिनचर्या में हम अनेकों प्रकार की मानसिक तनाव , शारीरिक, काम के बोझ , आजीविका की चिंता आदि और शारीरिक कष्टों यथा वातावरणीय प्रभाव से गुजरते रहते हैं ! इन सभी प्रतिकूल परिस्थितियों का असर कहीं न कहीं हमारे स्वस्थ्य पर पड़ता है ! अधिकतर व्यक्ति इनके द्वारा उत्पन्न विकारों जैसे डिप्रेशन, नींद न आना सिरर्दद, बवासीर, बुखार नजला खांसी पेट दर्द अपच इत्यादि से ग्रस्त हो जाते हैं ! अधिकतर समय इन विकारों से तुरंत लाभ पाने के लिए किसी के द्वारा सुझाई गयी या टीवी में अख़बार में दिखाई गयी विभिन्न औषधियों का सेवन करने लगते हैं ! फार्मासिस्ट डॉक्टर या किसी की सलाह न लेकर खुद ही डॉक्टर बन जाते हैं, यह गलत ही नहीं खतरनाक भी है ! हर दवा

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

6 दिनों से भूखे अनशनकारियों को पीटा, जेल में डाला और बिना मेडिकल के छोड़ दिया है मरने के लिए

सबसे अमानवीय पक्ष यह है कि विनय कुमार भारती जो की पिछले 6 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं पहले तो उन्हें पुलिस ने मारा फिल जेल में बंद कर दिया वह भी बिना किसी मेडिकल चेकअप के…और अब उनसे मिलने भी नहीं दिया जा रहा है…
एक शांति के साथ आंदोलन कर रहे आंदोलनकारियों पर यूपी सरकार की पुलिस ने जिस बर्बरता के साथ पेश आई है वह ‪#‎मानवाअधिकार‬ का मामला बनता है…एक भूखे आदमी को पहले डंडा मारना फिर जेल में बंद करना वह भी बिना डॉक्टरी चेकअप के..

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

फार्मासिस्टों की हुई जीत…एफडीए ने माने अनशनकारियों की मांग…दूसरे मांग को लेकर आमरण अनशन अभी भी जारी

लखनऊ के लक्ष्मण मेले में चल रहे फार्मासिस्टों भूख हड़ताल के आगे यूपी एफडीए ने समर्पण करते हुए उनकी बात मान ली है। फार्मासिस्टों की मांग थी कि यूपी फार्मेसी को ऑनलाइन किया जाए, जिसे यूपी ड्रग कंट्रोलर एक.के मल्होत्रा ने मान लिया है। झारखंड से आए फार्मा एक्टिविस्ट धर्मेन्द्र सिंह की मध्यस्थता में यह फैसला लिया गया।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

अनशनकारी फार्मासिस्ट मरें तो मरें मुझे फर्क नहीं पड़ता: ड्रग कंट्रोलर लखनऊ

ड्रग कंट्रोलर के रवैये को लेकर फार्मासिस्टों में जबरदस्त आक्रोश है ! अबतक अवैध और बगैर फार्मासिस्ट के चल रही दवा दुकानों को बंद करवाने की मांग कर रहे फार्मासिस्टों ने ड्रग कंट्रोलर की बर्खास्तगी की मांग की है ! बतातें चलें के विगत 1 मार्च से फार्मासिस्ट फाउंडेशन के बैनर तले भूख हड़ताल कर रहे है !

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

यूपी के फार्मा-आंदोलन के समर्थन में आया स्वस्थ भारत अभियान, लिखा यूपी के सीएम को पत्र, फार्मासिस्टों के मांग को जल्द पूरा करने की मांग

श्री आशुतोष ने अपने लिखे पत्र में कहा है कि ”स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक होने के नाते मैं आपसे आग्रह करता हूं कि फार्मासिस्टों की मांग को जल्द से जल्द पूर्ण करें ताकि आपकी सरकार कि छवि बेहतर हो सके। यहां पर मैं यह बताना चाहता हूं कि स्वास्थ्य क्षेत्र में फार्मासिस्टों को मेडिसिन का डॉक्टर कहा जाता है।यूपी में फार्मासिस्ट फाउंडेशन के बैनर तले लक्ष्मण मेला में चल रहे फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल जितना जल्द खत्म होगा उतना ही अच्छा संदेश जायेगा।”

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

जयपुर में फार्मासिस्टों का जोरदार प्रदर्शन, सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में हजारों फार्मासिस्ट उतरे सड़क पर, विधानसभा का किया घेराव, चिकित्सा मंत्री व स्वास्थ्य सचिव को दिया ज्ञापन

फार्मासिस्ट जागृति संस्थान के अध्यक्ष सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में हुए इस आंदोलन से राजस्थान सरकार सकते में है। इस बावत संस्थान के मीडिया प्रभारी देवेन्द्र माधोपुर ने बताया कि हम चाहते हैं कि सरकार फार्मा मसले को गंभीरता लें, ताकि राजस्थान के स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सके। इस बीच इस आंदोलन को समर्थन देने के लिए दूसरे राज्यों से भी फार्मासिस्ट जयपुर पहुंचे थे। सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन, जमशेदपुर के अध्यक्ष धरमेन्द्र सिंह ने कहा कि जहां भी हमारे फार्मासिस्टों को आवाज की जरूरत होगी वहां पर सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन खड़ा रहेगा।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल तीसरे दिन भी जारी, हरकत में आया मुख्यमंत्री कार्यालय

लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में यूपी के फार्मासिस्टों का भूख हड़ताल लगातार तीसरे दिन भी जारी है। उनकी मांग है कि जब तक मुख्यमंत्री आकर उनसे बात नहीं करते वे हड़ताल जारी रखेंगे। इस बावत फार्मासिस्ट फाउंडेशन के अमीत श्रीवास्तव ने कहा कि अब फार्मासिस्ट जाग गए हैं। देश की आम जनता के स्वास्थ्य के साथ हो रहे खिलवाड़ को हम सहन नहीं कर सकते हैं। वहीं जाने-माने फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने कहा कि अब समय आ गया है कि सभी फार्मासिस्ट एकजूट होकर मुद्दे की ल़ड़ाई लड़ें।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर समाचार

जयपुर में सर्वेश्वर शर्मा की अगुवाई में फार्मासिस्टों का आंदोलन 3 मार्च को

देश को स्वस्थ देखने के उद्देश्य से चलाए जा रहे स्वस्थ भारत अभियान के संयोजक आशुतोष कुमार सिंह ने अमीत श्रीवास्तव की टीम को शुभकामनाएं प्रेषित किया है। आशुतोष कुमार सिंह ने कहा है कि देश के स्वास्थ्य क्षेत्र में फार्मासिस्टों की उपस्थिति शरीर में रीढ़ के हड्डी के समान है। अतः उन्हें उनका पूर्ण अधिकार दिया जाना चाहिए ताकि आम लोगों को सही हाथों से सही दवाई मिल सके। उन्होंने कहा सच तो यह है कि इस समय पूरा देश फार्मा क्रांति के दौर से गुजर रहा है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें