सत्यमेव जयतेः भारतीय चिकित्सा व्यवसाय का काला चिट्ठा!

सन् 2012 में आमिर खान ने अपने शो ‘सत्यमेव जयते’ के माध्यम से भारतीय चिकित्सा व्यवसाय की खामियों को दमदार तरीके से उठाया था..पूरे देश में व्याप्त जेनरिक दवा के बारे में भ्रम को भी दूर करने का काम किया था…तब से गंगा में बहुत पानी बह चुका है…कुछ सुधार हुए हैं अभी बहुत कुछ होना बाकी है…आमिर खान व उनकी टीम के इस प्रयास का स्वस्थ भारत अभियान ने तब भी भूरी-भूरी प्रशंसा की थी आज भी हम कर रहे हैं…इस एपीसोड को जितनी बार देखा जा सकता है, उतनी बार देखा जाना चाहिए…आप नहीं देखें हैं तो जरूर देखिए और देख लिए हैं तो एक बार फिर से देखिए…! संपादक

अंकुर अरोड़ा मर्डर केसः सफेद कोट की कड़वी सच्चाई…!

डॉक्टरों को धरती का भगवान कहा जाता है। सच भी है। आज के बदलते दौर में किस तरह से कुछ डॉक्टर अपने ईमान-धर्म को बेच देते हैं, इसकी कहानी कहती है यह फिल्म अंकुर अरोड़ा मर्डर केस। इस फिल्म को देखने के बाद आपको लगेगा की किस तरह से सफेद पेशे में काला दाग लग चुका है! इस दाग को धोने की जिम्मेदारी जितनी हमारी है कहीं उससे ज्यादा खुद सफेद कोटधारियों की है…उम्मीद है स्वस्थ भारत डॉट इन के पाठक/दर्शक इस फिल्म को  देखने के बाद अपने आप को कुछ ज्यादा मेडिकली समझदार पायेंगे….तो देर किस बात की है इस फिल्म को देखिए और अपने अनुभव साझा कीजिए...संपादक

30 दिनों का स्वस्थ भारत डॉट इन…

तो अपनी वेबसाइट ने पूरे किए 30 दिन...

तो अपनी वेबसाइट ने पूरे किए 30 दिन…

पिछले 17 सितंबर को जब हमलोगों ने यह घोषणा की थी कि आगामी 2 अक्टूबर कोwww.swasthbharath.in राष्ट्र को समर्पित की जायेगी…आप मित्रों के सहयोग से यह संभव हो पाया…आज इस स्वास्थ्य पोर्टल ने अपने एक महीने पूरे कर लिए हैं…इस मौके पर 17 सितंबर को मित्रों से हुई बातचीत का विडियों अंश साझा कर रहा हूं…आप भी देखें…समझें व साझा करें…swasth bharath वेबसाइट की घोषणा करते हुए आशुतोष कुमार सिंह यहां क्लिक करें आपको विडियों लिंक मिलेगा जो फेसबुक पर है…