समाचार

पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर प्रदान किए जाने वाले मीडिया पुरस्‍कारों के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की

स्वच्छता ही सेवा ह

पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय ने स्‍वच्‍छ भारत मीडिया पुरस्‍कार के लिए प्रस्‍ताव भेजने के वास्‍ते मीडिया संगठनों से प्रविष्टियां आमंत्रित की है। यह पुरस्‍कार 2 अक्‍टूबर 2017 को स्‍वच्‍छ भारत मिशन की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर प्रदान किये जायेंगे। इन पुरस्‍कारों का उद्देश्‍य 2 अक्‍टूबर, 2014 में स्‍वच्‍छ भारत मिशन की शुरूआत से अब तक विशेष कदम उठाकर जागरूकता फैलाने के जरिए स्‍वच्‍छता को जन आंदोलन बनाने के तरीके में योगदान देने वाले मीडिया संगठनों का सम्‍मान करना है

 

 

क्या करें…

कृपया नाम, माध्‍यम (प्रिंट, टेलीविजन, रेडियो आदि), दर्शकों/पाठकों समेत अपने संगठन के बारे में विस्‍तृत जानकारी सहित निम्‍नलिखित प्रश्‍नों के उत्‍तर दें।

1)     स्‍वच्‍छ भारत मिशन, इसकी विशेषता और चुनौतियों के बारे आप क्‍या जानते हैं? कृपया 250 शब्‍दों में इसके बारे में बताएं।

2)     क्‍या राष्‍ट्रीय और क्षेत्रीय स्‍तर के स्‍वच्‍छता से जुड़े मुद्दों को कवर करने के लिए आपके कोई बीट पत्रकार /समर्पित टीम है? कृपया दोनों स्‍तरों पर समर्पित इस टीम के कर्मचारी सदस्‍यों की संख्‍या का उल्‍लेख करें।

3)     क्‍या स्‍वच्‍छता अभियान में नागरिकों को शामिल करने के लिए आपने कोई विशेष मीडिया अभियान/कार्यक्रम चलाए हैं? कृपया इन विशेष पहलों के प्रभाव सहित इसका वर्णन अधिकतम 300 शब्‍दों में करें।

4)     क्‍या आपने एक वर्ष में स्‍वच्‍छता को समर्पि‍त कोई विशेष फीचर/कार्यक्रम चलाया है। कृपया इसका अधिकतम 300 शब्‍दों में वर्णन करें।

5)     आपके संगठन ने एक वर्ष में स्‍वच्‍छ भारत मिशन के संदेश को फैलाने के कितने समाचार दिए हैं? कृपया दस श्रेष्‍ठ उदाहरण दें।

 

आपने देश में स्‍वच्‍छता को बढ़ावा देने के लिए अन्‍य विशेष कदम उठाए हैं। (अधिकतम 300 शब्‍द)।

कहां भेजें…

‘स्‍वच्‍छ भारत मीडिया पुरस्‍कारों के लिए प्रस्‍ताव’  विषय के साथ अपनी प्रविष्टि gpsingh@washinstitute.org  पर और इसकी एक कॉपी anisha.pmcmdws@gmail.com  पर भेजे।  प्रविष्टि जमा कराने की अंतिम तिथि 25 सितंबर, 2017 है।

नोटः  पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय एक जूरी गठित करेगी जो विजेताओं का चयन करने के लिए प्रविष्टियों का मूल्‍यांकन करेगी। जूरी का निर्णय अंतिम और उचित रहेगा।

सोर्सःhttp://pib.nic.in/newsite/PrintHindiRelease.aspx?relid=67238

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
swasthadmin
देश के लोगों में स्वास्थ्य चिंतन की धारा को प्रवाहित करना, हमारा प्रथम लक्ष्य है। प्रत्येक स्तर पर लोगों का स्वास्थ्य ठीक रहना और रखना जरूरी है। इस दिशा में ही एक सार्थक प्रयास है स्वस्थ भारत डॉट इन। यह एक अभियान है, स्वस्थ रहने का, स्वस्थ रखने का। आप भी इस अभियान से जुड़िए। स्वस्थ रहिए स्वस्थ रखिए।
https://www.swahbharat.in

प्रातिक्रिया दे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.