• Home
  • समाचार
  • स्वास्थ्य-पर्यावरण-भ्रूण हत्या के प्रति देश को जागरूक करने लिए समुद्र की गहराई में चलाएंगे साईकिल युवा पांडव
समाचार

स्वास्थ्य-पर्यावरण-भ्रूण हत्या के प्रति देश को जागरूक करने लिए समुद्र की गहराई में चलाएंगे साईकिल युवा पांडव

दिल्ली से रवाना हुई टीम
दिल्ली से रवाना हुई टीम

 
नई दिल्ली: 02.01.2016
एक ओर जहां वैश्विक स्तर पर ग्लोबल वार्मिंग की समस्या पर चिंतन किया जा रहा है वही दूसरी तरफ भारत में स्वस्थ भारत अभियान के बैनर तले युवाओं की एक टोली दुनिया को स्टॉप ग्लोबल वार्मिंग, मिसयूज़ ऑफ़ एंटीबायोटिक्स, नो योर मेडिसिन का सन्देश लेकर समुद्र तल में साईकिल चलाने उतरने जा रही है. एवरेस्ट विजेता नरिंदर सिंह की अगुवाई में 5 सदस्यों की टीम आगामी 6 जनवरी को साईकिल चलाने उतरेगी. इस टीम में एवेरेस्ट पर झंडा लहरा चुके रामलाल शर्मा, पंजाब पुलिस में क्राइम ब्रांच में एएसआइ दलजिन्दर सिंह, बॉडी बिल्डर परमजीत सिंह एवं जसिमुद्दिन का नाम उलेखनीय है. इस बावत नरिन्दर सिंह का कहना है की हमलोग दुनिया को ग्लोबल वॉर्मिंग के खतरों के प्रति जागरूक करना चाहते हैं. हम चाहते हैं की देश -दुनिया के लोग अपने स्वास्थ्य व पर्यावरण के प्रति जागरूक हों. पर्वतारोही व मिसन सपने बॉलीवुड रियल्टी शो में सलमान खान, शिद्धार्थ मल्होत्रा,कारन जौहर आदि के साथ काम कर चुके रामलाल शर्मा का कहना है की मैं देश -दुनिया में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का सन्देश देने के लिए समुद्र में साईकिल चलाने उतर रहा हूँ. इस कार्य-योजना के बारे में स्वस्थ भारत अभियान से जुड़े पर्यावरण विशेषज्ञ धीप्रज्ञ द्विवेदी ने बताया की इस पूरे इवेंट को करने का मुख्य उद्देश्य यह है कि हम पर्यावरण व स्वास्थ्य चिंतन की धारा को और तीव्र कर सकें. इसमें जितने भी प्रतिभागी हैं सबके सब युवा हैं. युवा भारत के बीच इस तरह के संदेशों का प्रचार-प्रसार बहुत जरुरी है. 6 जनवरी को गोवा में होने जा रहे इस रोमांचकारी इवेंट को समर्थन देने के लिए स्वस्थ भारत ट्रस्ट द्वारा चलाये जा रहे स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक आशुतोष कुमार सिंह की अगुवाई में 5 सदस्यीय टीम आज नई दिल्ली के निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से गोवा रवाना हुई. गौरतलब है की स्वस्थ भारत अभियान पिछले चार वर्षो से देश भर में स्वास्थ्य जागरूकता अभियान चला रहा है.
 
 

Related posts

दंत-रोगों को हल्के में ले रही है हरियाणा सरकार, दंत चिकित्सकों को नौकरी से निकाल फेंका

द लांसेट : जलवायु परिवर्तन से खाद्य उत्पादन पर पड़ने वाला प्रभाव वर्ष 2050 तक ले सकता है 05 लाख अतिरिक्त लोगों की जान

swasthadmin

खाद्य उत्पादों का हो स्थानीय उत्पादन: केंद्र सरकार

Sunil Jha

Leave a Comment

Login

X

Register