अस्पताल समाचार

केईएम अस्पताल के एक और डॉक्टर को हुआ डेंगू

जब डॉक्टर डेंगी से खुद को नहीं बचा पा रहे हैं, तो आम लोगों का क्या होगा...
जब डॉक्टर डेंगी से खुद को नहीं बचा पा रहे हैं, तो आम लोगों का क्या होगा…

– डॉक्टर की गंभीर हालत के चलते किया हिंदूजा अस्पताल में ऐडमिट
– बीएमसी ने केईएम अस्पताल और हॉस्टल को दिया डेंगू की ब्रीडिंग साइट के चलते नोटिस

Deepika Sharma For SBA

मुंबई/ केईएम अस्पताल में एक रेजिडेंट डॉक्टर की डेंगी से मौत हुए, एक हफ्ता भी नहीं हुआ है, इसी अस्पताल के तीन और रेजिडेंट डॉक्टर डेंगी से जूझ रहे हैं। केईएम के मेडिसिन विभाग के रेजिडेंट डॉक्टर वृज दुर्गे को बेहद गंभीर हालत के चलते सोमवार सुबह हिंदूजा अस्पताल में ऐडमिट कराया गया है। वहीं दूसरी तरफ मरीजों के लिए डेंगी का इलाज देने वाला यह केईएम अस्पताल खुद डेंगी के मच्छरों का घर बन गया है। बीएमसी ने केईएम अस्पताल और इसी अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टरों के हॉस्टल को डेंगी की ब्रीडिंग के चलते नोटिस भेजा है।
तीन डॉक्टर हैं डेंगी के शिकार
मेडिसिन विभाग के रेजिडेंट डॉक्टर वृज दुर्गे के अलावा दो और रेजिडेंट डॉक्टर भी डेंगी के चलते अस्पताल में ऐडमिट हैं। अस्पताल से जुड़े सूत्रों के अनुसार पीडियाट्रिक विभाग के रेजिडेंट डॉक्टर, शशी यादव केईएम अस्पताल के मेडिसिन इंनटेंसिव केयर युनिट (एमआईसीयू) और कार्डियोलॉजी विभाग के रेजिडेंट डॉक्टर अरविंद सिंह इसी अस्पताल के आईआईसीयू में ऐडमिट हैं। गौरतलब है कि एक हफ्ते पहले केईएम अस्पताल के अनेस्थेसिया विभाग के थर्ड ईयर की स्टूडेंट, डॉ़ श्रुति खोबरगेड़े की डेंगी के चलते ही मौत हो गई थी। इस घटना के बाद केईएम अस्पताल प्रशासन और बीएमसी के पेस्ट कंट्रोल विभाग ने कई कदम उठाए थे। जानकारी के अनुसार पिछले तीन महीनों में इस अस्पताल के लगभग 50 से ज्यादा डॉक्टर डेंगी की चपेट में आ चुके हैं।
अस्पताल खुद बना डेंगी का घर
केईएम अस्पताल के महाराष्ट्र असोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स (मार्ड) से मिली जानकारी के अनुसार डॉक्टर वृज को शनिवार को केईएम के एमआईसीयू में ऐडमिट किया गया था। लेकिन धीरे-धीरे उनकी हालत बिगड़ती चली गई, जिसके चलते परिवार वालों ने उन्हें हिंदूजा अस्पताल में ऐडमिट करने का फैसला किया। डॉ़ दुर्गे हिंदूजा अस्पताल के आईसीयू में ऐडमिट हैं और उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। मार्ड से मिली जानकारी के अनुसार इस अस्पताल में डेंगू के ब्रीडिंग स्पॉट पाए गए हैं, जिसके बीएमसी ने इन्हें नोटिस भी भेजा हैं।

साभारःनवभारत टाइम्स, मुंबई 

परिचयः दीपिका शर्मा नवभारत टाइम्स, मुंबई से जुड़ी हुई हैं। स्वास्थ्य रिपोर्टिंग में दीपिका शर्मा ने अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
swasthadmin
देश के लोगों में स्वास्थ्य चिंतन की धारा को प्रवाहित करना, हमारा प्रथम लक्ष्य है। प्रत्येक स्तर पर लोगों का स्वास्थ्य ठीक रहना और रखना जरूरी है। इस दिशा में ही एक सार्थक प्रयास है स्वस्थ भारत डॉट इन। यह एक अभियान है, स्वस्थ रहने का, स्वस्थ रखने का। आप भी इस अभियान से जुड़िए। स्वस्थ रहिए स्वस्थ रखिए।
http://www.swahbharat.in

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.