फार्मा सेक्टर

केवल फार्मासिस्ट को ही मिले ड्रग लाइसेंस – KPPA

 

स्वास्थ्य मंत्रालय को लिखे पत्र दिखाते केरल के फार्मासिस्ट
स्वास्थ्य मंत्रालय को लिखे पत्र दिखाते केरल के फार्मासिस्ट

कोज़्हिक्कोड (केरल )/2 फरवरी 2017:

रिटेल की तरह होलसेल ड्रग लाइसेंस में भी फार्मासिस्ट की अनिवार्यता करने को लेकर ड्रग टेक्निकल एडवाइजरी बोर्ड द्वारा प्रस्तावित ड्राफ्ट को प्रभावी बनाने को लेकर देश भर के फार्मासिस्ट और फार्मासिस्ट संगठन पत्र लिख रहे हैं.  इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुवे केरल प्राइवेट फार्मासिस्ट एसोसिएशन (KPPA) के तत्वाधान में कोज़्हिक्कोड में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम के दौरान फार्मासिस्ट प्रतिभागियों ने स्वास्थ मंत्रालय को सैकड़ों की संख्या में पत्र लिख कर होलसेल में भी फार्मासिस्ट की अनिवार्यता को पुराने बने  लाइसेंस में भी प्रभावी बनाने हेतु अपनी आप्पति पत्र भेजे हैं. KPPA के पदाधिकारी ज्यान करोथ ने कहा की उनकी संगठन केरल प्राइवेट फार्मासिस्ट एसोसिएशन फार्मासिस्टों के हित में हमेशा से ही काम करती रही है. देश भर के फार्मासिस्टों को एक साथ जुड़कर काम करने की जरुरत है. बतातें चलें कि “Drug licence to pharmacist only”  इसे लेकर केरल के फार्मासिस्ट लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं. पिछले साल केरल से फार्मासिस्टों ने जंतर मंतर पर प्रदर्शन भी किया था. ज्यान ने ड्रग लाइसेंस केवल फार्मासिस्ट को ही दिए जाने की बात दुहराई है. 

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
Vinay Kumar Bharti
विनय कुमार भारती देश के जाने में आरटीआई एक्टिविस्ट हैं. फार्मा सेक्टर में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ स्वस्थ भारत अभियान के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। फार्मासिस्टों के अधिकार की लड़ाई को आगे बढ़ाने हेतु इन दिनों वे दिल्ली में प्रवास कर रहे हैं। संपर्कःvinayk@zindagizindabad.com

4 thoughts on “केवल फार्मासिस्ट को ही मिले ड्रग लाइसेंस – KPPA”

प्रातिक्रिया दे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.