समाचार

मनसुख भाई मांडविया की पाठशाला में जनऔषधि से जुड़े कर्मचारियों की लगी क्लास…

5000 जनऔषधि केन्द्र खोलने का है लक्ष्य

नई दिल्ली/ स्वस्थ भारत डॉट इन
रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख भाई मांडविया ने पिछले दिनों बीपीपीआई के झंडेवालान दफ्तर गए थे। प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना की प्रोगरेस रिपोर्ट की जाँच-पड़ताल के संग-संग इस योजना को जन-जन तक कैसे पहुंचाया जाए इसको लेकर पीएमबीजेपी के अधिकारियों से लंबी बातचीत भी किए। अपने ट्वीटर पर जारी किए फोटोग्राप्स में वे अधिकारियों को हिदायत देते हुए दिख रहे हैं। एक दूसरी तस्वीर में पीएमबीजेपी से जुड़े कर्मचारी उनकी हिदायतों एवं सुझावों को नोट करते हुए दिख रहे हैं। जनऔषधि  केन्द्रों पर दवा की आपूर्ति को कैसे सही किया जाए, यह पीेएबीजेपी के अधिकारियों के लिए सबसे बड़ी चुनौति है। सूत्रों को माने तो मनसुख भाई मांडविया इस योजना में किसी भी तरह की लिकेज बरदास्त करने के मूड में नहीं है। उन्होंने अपने अधिकारियों  से कहा है कि वे इस योजना को नीचे तक पहुंचाने के लिए कंक्रीट प्लान बनाएं।
गौरतलब है कि जनऔषधि परियोजना को सफल बनाने के लिए  श्री मांडविया पहले से ही बहुत सक्रीय रहे हैं। यहीं कारण है कि अभी तक 3800 से ज्यादा जनऔषधि केन्द्र खुल चुके हैं। प्रधानमंत्री ने अपने मन की बात में जब जनऔषधि केन्द्रों की संख्या 5000 तक करने की बात कही थी तब श्री मांडविया ने ट्वीट कर के कहा था कि प्रधानमंत्री के सपने  को साकार करने में रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय जी-जान से लगेगा। अपने वादे के अनुरूप श्री मांडविया चाहते हैं कि जनऔषधि की 5000 दुकान जल्द से जल्द खुलें।
गौरतलब है कि स्वस्थ भारत डॉट इन पीएमबीजेपी के अंतर्गत चल रहे केन्द्रों पर दवा की आपूर्ति नहीं होने की बात लगातार उठा रहा है। इसका अब असर भी देखने को मिल रहा है। आपूर्ति की समस्या में थोड़ा सुधार हुआ है। लेकिन अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है।
स्वस्थ भारत डॉट इन का हमेशा से यह प्रयास  रहा है कि वो अपने पाठकों को हर ओ खबर दे, जिसका संबंध लोगों के स्वास्थ्य से सीधा-सीधा हो।

Related posts

मां ने कहा हमार बबुआ देश के काम करsता

बिनोद कुमार को मिला 2015 फेलोशिप अवार्ड

Vinay Kumar Bharti

…तो फार्मासिस्टों पर लाठीचार्ज की तैयारी थी।

swasthadmin

Leave a Comment