मध्य प्रदेश के संबीदा कर्मी ने सीएम शिवराज को लिखा खुला पत्र

भोपाल / 15.03.2016
एनएचआरएम मध्य प्रदेश में काम कर रहे एक संबीदा स्वास्थ्य कर्मी ने शिवराज चौहान को एक खुला पत्र लिखा है बतातें चलें की मध्य प्रदेश के करीब 30 हज़ार संबीदा कर्मचारी पिछले पंद्रह दिनों से लगतार कलमबंद हड़ताल पर है ।
मध्य प्रदेश के ललित विश्वकर्मा ने सीएम को खुला पत्र लिखा है

मध्य प्रदेश के ललित विश्वकर्मा ने सीएम को खुला पत्र लिखा

आदरणीय शिवराज चौहान जी
मुख्यमंत्री म.प्र. शासन
 
आपके कार्यकाल में प्रदेश ने निश्चित तौर पर प्रगति की है!बागडोर सम्हालते ही अनेको अनेक जनकल्याणकारी योजनाओ से मध्य प्रदेश लाभान्वित हुआ..!आपने कांग्रेस के कुशासन और अजीबो गरीब वोट बैंक वाली नीतियों से प्रदेश को मुक्त करने का सराहनीय प्रयास किया है..!!
 
इस कड़ी में राज्य में शिक्षा किसानो सड़को उद्योगों व्यापार बिजली स्वास्थ्य की सुविधाये में काफी सुधार हुआ है..! शिक्षा में पुख्ता संविदा नीति बनाकर आपने समस्त प्रदेश के शिक्षको का भविष्य सुरक्षित किया जो प्रशंसनीय है..!
 
आपको बताते हुए बड़ा दुःख भी हो रहा है कि ये संविदा रूपी कलंक अभी पूर्ण रूपेण मिटा नही है ये एक गुलामी है और “””स्वास्थ्य विभाग”” इस संविदा रूपी नागपाश में निरन्तर दम तोड़ता जा रहा है..!
 
प्रदेश के लगभग 30000 संविदा स्वाथ्य कर्मचारी वितग 15 दिन से हड़ताल पर है सारी व्यवस्थाये स्वा योजनाये चरमरा गई है पर सरकार अभी भी बेहरी बनी बैठी हुई है.. हम जानते है आप सह्रदय भावुक और यशस्वी जनसेवक है आपके प्रदेश के आज संविदा स्वा कर्मचारी घोर निराश और कष्ट में है और आप की ओर उम्मीद से देख रहे है..हम इस संविदा रूपी कलंक से मुक्त होना चाहते है..
 
अब निर्णय आपके हाँथ में है ऐसा ना हो की देर हो जाये..,और हमे आपसे और आपकी सरकार से विमुख होना पड़े! यदि ऐसा हुआ तो ये प्रदेश के लिए दुर्भाग्य होगा..!!
 
अतः आपसे निवेदन है कि स्वत: संज्ञान लेते हुए आगे आकर हमसे बात तो करे कम से कम..फिर जो निर्णय प्रदेश हित में होगा वो हमे शिरोधार्य होगा…!
 
“हम सबने ये ठाना है प्रदेश को श्रेष्ठ बनाना है.,
हम सबने ये ठाना है संविदा कलंक मिटाना है!
 
आपका
ललित विश्वकर्मा
संविदा स्वाथ्य कर्मचारी म.प्र.
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *