विविध समाचार

वह रिमोट से करता है दर्द कंट्रोल

वाह! यह तो कमाल हो गया...आपका दर्द आपकी मुट्ठी में...
वाह! यह तो कमाल हो गया…आपका दर्द आपकी मुट्ठी में…

– ऑक्सिपिटल न्यूरोलॉजिया से जूझ रहे ब्रिटेन से आए मरीज का मुंबई में हुआ इलाज

– सिर में होता रहता था हमेशा तेज दर्द, भारत में पहली बार हुआ इस बीमारी के लिए ऑक्सिपिटल नर्व स्टिमुलेशन सर्जरी

Deepika Sharma For SBA

मुंबई/ लगभग एक साल से सिर के बांए हिस्से में हमेशा बने रहने वाले तेज दर्द से जूझ रहे ब्रिटेन के जॉर्ज जोनस्टन को आखिरकार भारत में आकर अपने दर्द से छुटकारा मिल गया है। ऑक्सिपिटल न्यूरोलॉजिया नामक न्यूरोलॉजिकल बीमारी से पीड़ित जॉर्ज अब अपने हाथ में लगे रिमोर्ट से अपने सर के दर्द को कंट्रोल कर सकते हैं। दरअसल, ऑक्सिपिटल नर्व स्टिमुलेशन (ओएनएस) नामक सर्जरी की इस प्रक्रिया में जॉर्ज के सिर में दो इलेक्ट्रोड (तार) और शरीर में एक ट्रांसमीटर लगाया गया, जिसका रिमोट उनके हाथ में रहता है। मुंबई के जसलोक अस्पताल में इलाज के लिए ब्रिटेन से आए जॉर्ज भारत के पहले मरीज हैं, जिनपर इस बीमारी के लिए इस सर्जरी का इस्तेमाल किया गया है।
क्या है ऑक्सिपिटल न्यूरोलॉजिया
जसलोक अस्पताल के पेन क्लीनिक की इंचार्ज और पेन फिजीशन, डॉ़ प्रीति दोषी बताती हैं सिर के दांय और बांय, दोनों तरफ ऑक्सिपिटल नर्व होती हैं। सिर के ऊपरी हिस्से और गर्दन से ऊपरी हिस्से में होने वाला यह दर्द इन नर्व के माध्यम से मस्तिष्क तक पहुंचता है।
इलाज के लिए ब्रिटेन से आए जॉर्ज
ब्रिटेन के एक बैंक में अकाउंटेंट के तौर पर काम करने वाले 32 वर्षीय जॉर्ज पिछले 13 महीनों से सिर के पिछले हिस्से में तेज दर्द से जूझ रहे थे। अपने इस दर्द को माइग्रेन का दर्द समझ कर जॉर्ज ने ब्रिटेन में ही माइग्रेन का इलाज लेना शुरू किया, लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ। जॉर्ज, अपने ही देश में लंदन ब्रिज हॉस्पिटल में इलाज लेने लगे, लेकिन जॉर्ज को ओएनएस सर्जरी के लिए मुंबई के जसलोक अस्पताल में इलाज लेने के लिए भेजा।
रिमोट से होता है दर्द कंट्रोल
जसलोक अस्पताल के न्यूरोसर्जरी विभाग के डायरेक्टर और जॉर्ज की सर्जरी करने वाले डॉ़ परेश ने बताया कि जॉर्ज अपने दर्द के लिए कई सारी दवाएं और इंजेक्शन ले रहे थे, लेकिन सब कुछ थोड़े समय के लिए ही उन्हें दर्द से छुटकारा दिला पाता था। हमने उनके इस दर्द के लिए ओएनएस सर्जरी करने का निर्णय लिया, जिसके तहत उनके सिर में दो इलेक्ट्रोड डाले गए हैं और उनसे जुड़ा एक ट्रांसमीटर, जॉर्ज की छाती में लगाया गया है। जॉर्ज के पास एक रिमोर्ट है, जिसमें हमने दर्द को रोकने और स्टीमुलेशन के लिए कुछ प्रॉग्राम सेट कर के डाले हैं। जॉर्ज को यदि सिर में दर्द होता है, तो वह इसे इस रिमोट से कंट्रोल कर सकते हैं।
 साभारःनवभारत टाइम्स, मुंबई 
परिचयः दीपिका शर्मा नवभारत टाइम्स, मुंबई से जुड़ी हुई हैं। स्वास्थ्य रिपोर्टिंग में दीपिका शर्मा ने अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है।

Related posts

स्वच्छता अभियान : गांधी ही क्यों?

swasthadmin

गुरदासपुर मामलाः डॉक्टरों ने छिनी 16 मरीजों की  ऑखों की रौशनी!

swasthadmin

जनऔषधि पोषण और आयुष्मान विषय पर हुआ राष्ट्रीय परिसंवाद, आयुष्मान भारत एवं जनऔषधि परियोजना के शीर्ष अधिकारी हुए शामिल

Leave a Comment