SBA विशेष समाचार

फार्मासिस्टों का है यह नारा चलो दिल्ली…

  • 16 अगस्त को राष्ट्रीय फार्मा सम्मेलन में भाग लेने के लिए 20 राज्यों के फार्मासिस्ट दिल्ली पहुंच रहे हैं।

  • 17 से जंतर-मंतर पर  अनिश्चितकालिन धरना

फार्मासिस्ट दिल्ली पहुंचते हुए
फार्मासिस्ट दिल्ली पहुंचते हुए

नई दिल्ली/स्वस्थ भारत डेस्क

देश भर से फार्मासिस्टों का जमावड़ा दिल्ली में होने लगा है। असम से लेकर तमिलनाडु तक के फार्मासिस्ट अपनी मांगों व अपनी समस्याओं को एक दूसरे से साझा करने के लिए 16 अगस्त को नई दिल्ली में राष्ट्रीय फार्मा सम्मेलन में पहुंच रहे हैं। इस सम्मेलन में देश भर के दो दर्जन से ज्यादा फार्मासिस्ट संगठन एक मंच पर आ रहे हैं। कार्यक्रम का संयोजन कर रहे एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती का कहना है कि, ‘फार्मासिस्ट अब चुप नहीं रहेंगे। अपने अधिकारों को लेकर रहेंगे। फार्मासिस्टों की उपयोगिता को कम करने की साजिश कुछ लोग कर रहे हैं जिसे हम कामयाब नहीं होने देंगे।’

फार्मासिस्टों के इस पूरे आयोजन में सहयोग कर रहे स्वस्थ भारत अभियान के संयोजक आशुतोष कुमार सिंह इस बावत कहते हैं कि, ‘दवा, डॉक्टर और दुआ की जरूरत सभी को पड़ती है। बीमारों के लिए डॉक्टर भगवान होते हैं तो दवा संजीवनी। इसी कड़ी में मेडिकल सेक्टर में एक और किरदार होता है जिसकी उपयोगिता बहुत है, वह है फार्मासिस्ट। आज भारतीय फार्मा सेक्टर में इनकी उपयोगिता को लगभग नकार दिया गया है। जिसका खामियजा आम जनता भूगत रही है। स्वस्थ भारत अभियान मांग करता है कि फार्मासिस्टों की मांगो को सरकार माने व एक बेहतर स्वास्थ्य-व्यवस्था बनाएं।’

फार्मासिस्ट दिल्ली पहुंचते हुए
फार्मासिस्ट दिल्ली पहुंचते हुए

16 अगस्त को सम्मेलन करने के बाद फार्मासिस्ट 17 अगस्त से जंतर-मंतर पर अनिश्चितकालिन धरना देने वाले हैं।

2 thoughts on “फार्मासिस्टों का है यह नारा चलो दिल्ली…”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *