समाचार

बिलासपुर सिम्स में राजनीतिक शास्त्र का छात्र बांट रहा है दवाइयां…

Ashutosh Kumar Singh For SBA
विडियो लिंकःबिलासपुर सिम्स में राजनीतिक शास्त्र का जानकार दवाइयां बांट रहा हैं…

सिम्स के प्रांगण में अवस्थित रेडक्रास मेडिकल शॉप जहां आज भी  फार्मासिस्ट दवाइयां नहीं बांट रहा है...
सिम्स के प्रांगण में अवस्थित रेडक्रास मेडिकल शॉप जहां आज भी फार्मासिस्ट दवाइयां नहीं बांट रहा है…

बिलासपुर से हमारी टीम ने यह विडियो फूटेज भेजा है। जिसमें स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि सिम्स प्रांगण में रेड क्रास की मदद से चलने वाले दवा दुकान पर जो दवा दे रहा है, वह फार्मासिस्ट नहीं है। लक्ष्मी नारायण मिश्रा नाम बताने वाला यह शख्स बता रहा है कि वो यहां पर पिछले सात-आठ वर्षों से दवा बांट रहा है…जब ठेकेदारी से दवा वितरण होगा तो बिलासपुर जैसी घटना को रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है…राजनीतिक शास्त्र में पोस्ट ग्रैजुएट करने वाला लड़का दवा बांट रहा है…सरेआम दवा कानूनों धज्जिया उड़ाई जा रही है। हमारे टीम के सदस्य व आरटीआई एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने जब पूछा की सीनियर कौन है तो इस शख्स का जवाब था, डॉ. सौरभ शुक्ला को-आर्डिनेटर हैं…
विनय कुमार भारती से फोनिक चर्चा अभी हुई है, उनका कहना है कि, अभी यहाँ पंहुचा हूँ ! साथ मैं छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन बिलासपुर की टीम है ! पहुँचते ही सबसे पहले हॉस्पिटल के फार्मेसी में अपनी टीम के साथ हालात का जायजा ले रहा था ! दवा बाँट रहा सख्स लक्ष्मी नारायण मिश्रा ने खुद को पोलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएट बताया ! बड़ी आसानी से इस शख्स ने बताया की पिछले आठ साल से धड़ल्ले से दवा बाँट रहा है ! बिलासपुर, छत्तीसगढ़ का सबसे बड़े अस्पताल का ये हाल है ! जहाँ एक मात्र दवा बितरण केंद्र में पोलिटिकल साइंस के लोग दवाइयाँ बाँट रहे है ! तो पेंडारी जैसे हादसे होना कोई नई बात नहीं ! गौरतलब है कि इस राज्य में 12000 फार्मासिस्ट हैं, जिनमें महज 235 को ही सरकारी नौकरी मिली है।

Related posts

MMU की तानाशाही: नर्सिंग की छात्राओं का हुक्का-पानी किया बंद, सैकड़ों छात्राएं हॉस्टल छोड़ निकली अपने घर की ओर…

swasthadmin

फार्मासिस्ट लायसेंस की जुगाड़ में महाराष्ट्र के दवा व्यापारी

swasthadmin

693826 आंगनबाड़ी केन्द्रों में  नहीं है शौचालय!

swasthadmin

Leave a Comment

swasthbharat.in में आपका स्वागत है। स्वास्थ्य से जुड़ी हुई प्रत्येक खबर, संस्मरण, साहित्य आप हमें प्रेषित कर सकते हैं। Contact Number :- +91- 9891 228 151