• Home
  • समाचार
  • राजनीतिक रंग में रंगा बिलासपुर नसबंदी मामला
समाचार

राजनीतिक रंग में रंगा बिलासपुर नसबंदी मामला

बिलासपुर में डॉक्टरी लापरवाही से अब तक 11 महिलाओं की जान जा चुकी है। छ्त्तीसगढ़ में स्वास्थ्य का हाल बहुत ही बुरा है। इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हस्तक्षेप के बाद बेसक सरकार सक्रियता दिखा रही है, लेकिन वो नाकाफी है। स्वस्थ भारत अभियान चाहता है कि दोषियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर मुकदमा चलाया जाए। संपादक

फाइल फोटो
फाइल फोटो

बिलासपुर / रायपुर: छत्तीसगढ़ की न्यायिक  राजधानी रायपुर में नसबंदी ऑपरेशन के बाद मरने वाली महिलाओं की तादाद बढ़कर 11 हो गई है। अब यह मामला राजनीतिक रंग भी ले रहा है। प्रदेश कांग्रेस ने आज घटना के विरोध में पूरे राज्य में बंद बुलाया है।
रायपुर में कांग्रेस कार्यकर्ता इस मामले पर हंगामा कर रहे हैं और उन्होंने कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की है। कांग्रेस राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह के इस्तीफे की भी मांग कर रही है।
दरअसल नसबंदी के लिए लगाए गए सरकारी कैंप में डॉक्टरों ने कुछ ही घंटों के भीतर 80 महिलाओं का ऑपरेशन कर दिया, जिसके बाद उनकी हालत गंभीर हो गई। जिन महिलाओं का ऑपरेशन किया गया, उनमें से कई की हालत अब भी खराब है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह से बात की और उनसे पूरे मामले में गहन जांच तथा कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए कहा।
इस मामले में राज्य सरकार ने चार मेडिकल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश पुलिस को दिए हैं। इनमें सर्जरी करने वाले डॉक्टर आरके गुप्ता के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने के निर्देश मुख्यमंत्री रमन सिंह ने पुलिस को दिए हैं।
इसके अलावा तीन मेडिकल अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इसके साथ ही राज्य सरकार ने मारी गई महिलाओं के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का मुआवज़ा देने का ऐलान किया है।
इनपुटः खबर.एनडीटीवी.कॉम

Related posts

राजीव गांधी जीवनदायी आरोग्य योजना जल्द ही होगी राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल

बिनोद कुमार को मिला 2015 फेलोशिप अवार्ड

Vinay Kumar Bharti

पोलियो उन्मूलन के लिए भारत को मिली वैश्विक सराहना,2011 के बाद भारत में पोलियों का एक भी मामला सामने नहीं आया है

swasthadmin

Leave a Comment

Login

X

Register