काम की बातें समाचार

बेटियों को ‘सुविधा’ सिर्फ 10 रुपये में

पर्यावरण दिवस के पूर्व संध्या पर केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक  राज्य मंत्री मनसुख भाई मांडविया ने बेटियों को ‘सुविधा’ के रूप में नई सौगात दी। ‘सुविधा’ नाम से ऑक्सो-बायोडिग्रेडेबल सैनिटरी नैपकिन अब सिर्फ 10 रुपये में सरकार जनऔषधि केन्द्रों पर उपलब्ध करा रही है। इस अवसर पर बोलते हुए रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख भाई मांडविया ने कहा कि, भारत की महिलाओं को, बेटियों को स्वस्थ रखने के लिए हमने सैनिटरी नैपकिन इतने सस्ते में लेकर आए हैं। उन्होंने कहा कि 10 रुपये सुविधा के पैकेट में चार सैनिटरी नैपकिन रहेंगे, जबकि बाजार में उपलब्ध दूसरे ब्रांड इससे कई गुणा ज्यादा महंगे है।  इस पैड को अन्य दवा दुकानों पर भी उपलब्ध कराए जाने के सवाल पर श्री मांडविया ने कहा कि फिलहाल इसे  देश के 3600 जनऔषधि केन्द्रों पर ही उपलब्ध कराया जा रहा है। इसकी उपलब्धता को सुनिश्चित कराने में महिला संगठनों को जोड़ने की बात भी उन्होंने कही।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
फार्मा सेक्टर मन की बात स्वस्थ भारत अभियान

देश के हर पंचायत में जरूरी है जनऔषधि केन्द्र

यह हर्ष का विषय है कि प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना के अंतर्गत लोगों को सस्ती दवाइयां उपलब्ध कराने का काम इधर के वर्षों में तेजी से हुआ है। विपल्व चटर्जी के मार्गदर्शन में काम को गति मिली। हम आशा करते हैं कि विपल्व जी देश के प्रत्येक पंचायत में एक जनऔषधि केन्द्र खोलने का संकल्प लेंगे। स्वस्थ भारत उनके इस नेक काम में हर संभव मदद करने की कोशिश करेगा।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
SBA विशेष फार्मा सेक्टर स्वस्थ भारत अभियान

सस्ती एवं गुणवत्तायुक्त दवा उपलब्ध कराने का जन-अभियान है प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजनाः विप्लव चटर्जी, सीईओ

जनऔषधि एक सामाजिक आंदोलन की अवधारणा है। इसमें चिकित्सकों की भूमिका बहुत अहम हैं। इस आंदोलन को जन-जन तक पहुंचाने के लिए चिकित्सकों का सहयोग अपेक्षित है। यह सच है कि चिकित्सकों का सहयोग उस रूप में नहीं मिल पाया है, जिस रूप में मिलना चाहिए था। लेकिन हम आशान्वित हैं कि देश के चिकित्सक भी इस पुनीत अनुष्ठान में अपनी आहूति और तीव्रता के साथ देते रहेंगे।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें