समाचार स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

स्वास्थ्य की कुंजी गांधी के राम

गांधी जी का कुदरती इलाज़ राम धुन एवं राम नाम में छुपा हुआ है। कुदरती इलाज़ से तात्पर्य है ऐसे उपचार या इलाज़ से है जो मनुष्य के लिये योग्य हो। मनुष्य का तात्पर्य प्राणी मात्र से है। मनुष्य में सिर्फ मनुष्य का शरीर शामिल नहीं है बल्कि मन और आत्मा भी है, इसलिए सच्चा कुदरती इलाज़ तो राम नाम ही है और राम धुन उसका माध्यम। रघुपति राघव राजा राम एक चिकित्सा पद्धति है। रामबाण ऐसे ही निकला है। राम नाम ही इलाज़ का रामबाण है। कुदरत ने मनुष्य को योग्य माना है। शरीर में कोई भी व्याधि हो, अगर मनुष्य हृदय से राम नाम ले तो उसकी व्याधि नष्ट होनी चाहिए। रामनाम का अर्थ ईश्वर, खुदा या गॉड कुछ भी हो सकता है। हर धर्म मे ईश्वर के नाम अलग-अलग हैं, व्याधि की स्थिति में जो जिस नाम से चाहे राम को चुन लें। यहां ज्यादा महत्वपूर्ण है अपने राम के प्रति हार्दिक श्रद्धा का भाव होना एवं श्रद्धा के साथ प्रयत्न प्रचुरता के साथ शामिल हो।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

प्राकृतिक चिकित्सक के रूप में गांधी

कुल मिला के “आरोग्य की कुंजी” उस समय उपलब्ध स्वास्थ्य ज्ञान की सहज और स्वस्थ जीवन जीने की एक प्रयोगधर्मी धरती पुत्र के अपने निजी अनुभवों का सार हैं। हमारे लिए ये एक धरोहर पुस्तक हैं जिसे वर्तमान के विकास के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बावजूद पूरा का पूरा नकारा नहीं जा सकता, गांधी आधुनिक भारत में आम जन के लिए सरल सादी और सस्ती चिकित्सा के पैरोकार हैं। उन्होंने स्वतंत्र भारत एवं स्वस्थ भारत की न केवल कल्पना की थी बल्कि आज भी वे स्वयं उदाहरण के साथ लाठी लिए हर चौराहे पर खड़े हो, प्रेरणा दे रहे हैं।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
SBA विशेष

देश को ब्रांड नहीं, जनऔषधि की है जरूरत

जेनरिक दवा और ब्रांडेड को लेकर जो भ्रम पैदा किया जा रहा है, उसे भी समझने की जरूरत है। पेंटेंट मुक्त मेडिसिन को जेनरिक मेडिसिन कहा जाता है। इस तरह से भारत में बिकने वाली अधिकतर दवाइयां पेटेंट फ्री हो चुकी हैं और उसे कोई भी कंपनी बनाकर बेच सकती है। इसी का फायदा उठाकर देश के दिग्गज कंपनियां अपने ब्रांड नेम के साथ दवाइयों को मार्केट में उतार रही हैं और उसकी जमकर मार्केटिंग कर रही हैं। इससे यह स्पष्ट होता है कि पहले दवा बनती हैं, बाद में उसे ब्रांड बनाया जाता है। ऐसे में अगर सरकार लोगों को जनऔषधि के माध्यम से सस्ती दवाइयां उपलब्ध कराने की कोशिश कर रही है तो क्या बुरा कर रही है? देश भर 612 जिलों में 3800 के आसपास जनऔषधि की दुकाने खुल चुकी हैं। जनऔषधि को लेकर लेकर भ्रम फैलाना बंद होना चाहिए। और इस जनसरोकारी काम को आगे बढ़ाने के लिए देश की जनता, देश चिकित्सक एवं फार्मासिस्टों को आगे आना चाहिए। ताकि महंगी दवाइयों के कारण गरीबी रेखा से नहीं ऊबर पा रहे देश की 3 फीसद आबादी को इस रेखा से ऊपर लाया जा सके।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
SBA विशेष समाचार स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ

तंदुरुस्ती के लिए सेवा धर्म का पालन जरूरी

स्वास्थ्य की बात गांधी के साथ शीर्षक से चल रहे वेब सीरीज का यह चौथा भाग है। इस भाग में हम महात्मा गांधी द्वारा लिखित पुस्तक ‘सेहत की कुंजी’ से शरीर के बारे में उनके विचार को प्रस्तुत कर रहे हैं। पुणे के आगा खां महल में रहते हुए उन्होंने इस विचार को 28.08.42 से लेकर 30.8.42 के बीच लिखा था। इस आलेख में महात्मा गांधी ने बहुत ही सहज शब्दों में शरीर की तंदुरूस्ती की बात कही है।
दरअसल, महात्मा गांधी ने जितने भी प्रयोग किए उसका मकसद ही यह था कि एक स्वस्थ समाज की स्थापना हो सके। गांधी का हर विचार, हर प्रयोग कहीं न कहीं स्वास्थ्य से आकर जुड़ता ही है। यहीं कारण है कि स्वस्थ भारत डॉट इन 15 अगस्त, 2018 से उनके स्वास्थ्य चिंतन पर चिंतन करना शुरू किया है। 15 अगस्त 2018 से 2 अक्टूबर 2018 के बीच में हम 51 स्टोरी अपने पाठकों के लिए लेकर आ रहे हैं। #51Stories51Days हैश टैग के साथ हम गांधी के स्वास्थ्य चिंतन को समझने का प्रयास करने जा रहे हैं। इस प्रयास में आप पाठकों का साथ बहुत जरूरी है। अगर आपके पास महात्मा गांधी के स्वास्थ्य चिंतन से जुड़ी कोई जानकारी है तो हमसे जरूर साझा करें। यदि आप कम कम 300 शब्दों में अपनी बात भेज सकें तो और अच्छी बात होगी। अपनी बात आप हमें forhealthyindia@gmail.com  पर प्रेषित कर सकते हैं।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

Northeast leads India to fight with health challenges: second health co-operative inaugurated in Silchar

The second health cooperative in India was inaugurated on Wednesday at Silchar Madhya Sahar Sanskriti auditorium. It was South Assam healthcare co-operative society Ltd. It is the second in Assam and first in Barak valley. Assam healthcare co-operative Ltd. is a first health co-operative in India as well as Assam. 

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

Scientists help pave the way for a vaccine against TB

The scope for developing a new vaccine against the dreaded disease of Tuberculosis through the biological route has become brighter, with researchers at Kolkata-based Indian Institute of Chemical Biology (IICB) and Bose Institute identifying a potential trouble spot and figuring out ways to deal with it.

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
काम की बातें

डॉ. ममता ठाकुर ने सर्वाइकल कैंसर के बारे में बालिकाओं को किया जागरुक

दिल्ली भारत विकास फाउंडेशन भवन में सर्वाइकल कैंसर को लेकर बालिकाओं को जागरुक किया गया। इस अवसर पर स्वस्थ भारत अभियान की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं जानी-मानी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. ममता ठाकुर ने बालिकाओं सर्वाइकल कैंसर से बचने के उपाय बताए। डॉ. ठाकुर पूरी दिल्ली में सर्वाइकल कैंसर को लेकर जागरुकता कैंपेन  चला रही हैं।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
SBA विशेष फार्मा सेक्टर साक्षात्कार

अगले दो महीने में आपूर्ति की समस्या का निदान हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता : सचिन कुमार सिंह, सीइओ  पीएमबीजेपी

हमारी सबसे पहली प्राथमिकता है कि जो स्टोर खुल चुके हैं, उनको इस तरह से बनाना कि वे कमर्सियली वायबल बन सके। स्टोर संचालकों की आमदनी इतनी हो सके कि वे अपने स्टोर को सार्थक तरीके से रन कर सकें। इससे और दोगुने जोश के साथ वे इस परियोजना को सफल बनाने में लगेंगे। कोई भी मानव सेवा तभी कर सकेगा, जब वह खुद सस्टेन कर पाए। इसके लिए हमने अपने सभी मार्केटिंग ऑफिसर्स के कहा है कि वे स्टोर्स की सेल बढाने में सहयोग करें। वे चिकित्सकों के पास जाएं। उन्हें जन औषधि के फायदे के बारे में बताएं। उन्हें यह सुनिश्चित करें कि जन औषधि की दवाइयां गुणवत्तायुक्त एवं सस्ती हैं। इतना ही नहीं वे जनता के बीच में भी जाएं।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
समाचार

मन की बात कार्यक्रम में बोले प्रधानमंत्री, भारतीय चिकित्सकों ने पूरी दुनिया में अपनी की पहचान कायम की है

प्रधानमंत्री ने आज अपने मन की  बात में योग दिवस की व्यापकता की चर्चा की। साथ ही उन्होंने कहा कि योग सभी सीमाओं को तोड़कर जोड़ने का काम करता है। उन्होंने कहा कि दुनिया के लोगों ने मिलकर इस अवसर को उत्सव बना दिया यह देश के लोगों के लिए गर्व की बात है। सुरक्षा बलों की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि  जल, थल एवं वायु में सभी जगह योग किया गया। अहमदाबाद में 750 दिब्यांगों द्वारा योग किए जाने की भी उन्होंने चर्चा की। भारत की वसुधैव कुटुंकम की भावना को योग ने सिद्ध कर के दिखाया है। आशा व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि योग से वेलनेस की मुहिम और आगे बढ़ेगी।

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
SBA विशेष आयुष काम की बातें

अच्छी आदतों से जोड़ने का काम करता है योग

दरअसल योग सिर्फ स्वस्थ जीवन का ही आधार नही है बल्कि ये लोगो को जोड़ने का माध्यम भी बनकर उभरा है। प्रधानमंत्री ने कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर प्राणायाम करके लोगो को प्रेरणा भी दी। हालांकि वो समय- समय पर ऐसा करते रहते है जिससे की देशवासी सेहतमंद और फिट रहें । योग की लोकप्रियता का आलम ये है की क्या आम क्या ख़ास आज हर कोई योग से अपनी जिंदगी संवार रहा है। इस बीच सोशल मीडिया पर तमाम मंत्रियो और गणमान्य लोगों ने फिटनेस चेलेंज दिया जो इस बात का सबूत है योग का प्रचार प्रसार कितनी तेज़ी से हुआ है। 

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें