Posts

स्वस्थ समाज की परिकल्पना में बालिकाओं का स्वस्थ होना जरूरीः प्रो. बीके कुठियाला

स्वस्थ समाज की परिकल्पना में बालिकाओं का स्वस्थ होना जरूरीः प्रो. बीके कुठियाला

स्वस्थ भारत के यात्रियों ने दिया स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज का संदेश

कबीर वाणी के माध्यम से दिया गया स्वास्थ्य एवं स्वच्छता का संदेश

भोपाल/ 4.02.17

img-20170205-wa0006
बालिकाओं की प्रबंधकीय क्षमता बेहतर होती है। एक समय था जब पत्रकारिता में बालिकाओं की संख्या कम थी लेकिन आज बढ़ी है। बदलाव हो रहा है लेकिन शायद समाज उतना नहीं बदला है जितना उसे बदलने की जरूरत है। नहीं तो स्वस्थ भारत यात्रा की जरूरत नहीं पड़ती। यह कहना था प्रो. बीके कुठियाला का। वे आज शहर में स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज एक परिसंवाद में अपनी बात रख रहे थे. उन्होंने कहा कि भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वर्ष को याद करते हुए निकली स्वस्थ भारत की टीम एक बहुत ही ज्वलंत मुद्दे को समाज के सामने रखने का प्रयास कर रही हैं। उन्होंने आगे कहा कि अगर बेटियों को पहले जैसा सम्मान मिल जाए तो शायद आशुतोष कुमार सिंह और उनकी टीम को सड़क पर भटक कर इस तरह के संदेश देने की जरूरत न पड़े।

भोपाल की चार बालिकाएं बनी स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज की गुडविल एम्बेसडर
img-20170205-wa0016

मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय में आयोजित स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज परिसंवाद के अवसर पर स्वस्थ भारत (न्यास) ने शहर के चार बालिकाओं को इस अभियान का गुडविल एमबेसडर मनोनित किया। आस्था दीक्षित, वत्सला चौबे, सर्वज्ञा त्रिपाठी एवं कीर्ति गुर्जर को गुडविल एंबेसडर मनोनित किया गया। प्रो. बीके कुठियाला एवं स्वस्थ भारत न्यास के चेयरमैन आशतोष कुमार सिंह के हाथों बालिकाओं को यह मनोनयन प्रपत्र प्रदान किया गया।

img-20170205-wa0004

img-20170205-wa0005

img-20170205-wa0007

img-20170205-wa0009

बालिकाओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए संस्था के चेयरमैन आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि अगर भारत की बालिकाएं अपनी शक्ति को समझ लें तो निश्चित रूप से वह दिन दूर नहीं जब स्वस्थ समाज की परिकल्पना को पूर्ण किया जा सके। इस अवसर पर मालिनी अवस्थी का वीडियो संदेश भी दिखाया गया। अंतं में सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ जिसमें दयाराम सारोलिया एवं साथियों द्वारा कबीर गायन प्रस्तुत किया गया।
गौरतलब है कि स्वस्थ भारत यात्रा भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वें वर्षगांठ पर आरंभ किया गया है। नंई दिल्ली में मुख्तार अब्बास नकवी ने इसे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। इस यात्रा को गांधी स्मृति एंव दर्शन समिति, संवाद मीडिया, राजकमल प्रकाशन समूह, नेस्टिवा अस्पताल, मेडिकेयर अस्पताल, स्पंदन, जलधारा, हेल्प एंड होप सहित अन्य कई गैरसरकारी संस्थाओं का समर्थन है। 5 फरवरी को यह यात्रा मध्यप्रदेश के इंदौर एवं 6 फरवरी को झाबुआ में रहेगी। 16000 किमी की जनसंदेशात्मक यह यात्रा अप्रैल में समाप्त होगी।
इस अवसर पर स्पंदन के अनिल सौमित्र, सुनिल मिश्र, विनोद गुर्जर, विनोद रोहिल्ला सहित सैकड़ो लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन गांधीवादी पत्रकार कुमार कृष्णन ने किया।

#SwasthBharatYatra
#swasthBalikaSwasthSamaj
#Knowyourmedicine
#SwasthBharatAbhiyan
#swasthbharat
#HealthNews

बेटी पैदा हुई तो दवा पर मिलेगी छूट …

उमा मेडिकल, जमशेदपुर की तस्बीर

उमा मेडिकल, जमशेदपुर की तस्बीर

जमशेदपुर : 25 अगस्त/ बेटी बचाओ अभियान के प्रणेता डॉ. गणेश राख द्वारा चलाए जा रहे बेटी बचाओ आंदोलन धीरे धीरे जनांदोलन का रूप लेता जा रहा हैl बेटी बचाओ जनांदोलन की गूंज हरियाणा, पंजाब दिल्ली होते हुए अब झारखण्ड पहुँच चुकी हैl पेशे से फार्मासिस्ट जीतेन्द्र शर्मा ने आदित्यपुर, जमशेदपुर स्थित अपने प्रतिष्ठान उमा मेडिकल में बेटियों के जन्म पर दवा में 15% छूट देने का एलान किया है. आज उमा मेडिकल में हुए एक कार्यक्रम के दौरान जीतेन्द्र शर्मा ने इस बात की औपचारिक घोषणा की.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुवे जीतेन्द्र ने बताया की उनकी खुद दो बेटियां है. उन्होंने आगे कहा की उन्हें इस की प्रेरणा पुणे के चिकित्सक व बेटी बचाओ आंदोलन के प्रणेता डॉ. गणेश राख से मिली। जीतेन्द्र शर्मा के इस कदम से जहाँ जमशेदपुर में उत्साह का माहौल है वही डॉक्टरों व समाजसेवियों ने भी उनके इस कदम का स्वागत किया है.
मौके पर उपस्थित फार्मा एक्टिविस्ट विनय कुमार भारती ने जीतेन्द्र की प्रशंसा करते हुवे कहा की फार्मासिस्ट जीतेन्द्र शर्मा व्यवसाई होने के साथ अपनी सामाजिक दायित्व का भी निर्वहन कर रहे हैं. विनय भारती ने कहा की उनके द्वारा उठाये गए इस छोटे से कदम को वे देश भर में प्रचारित करेंगे और देश भर के फार्मासिस्टों को बेटियों के जन्म पर दवा में छूट देने को प्रेरित करेंगे।

स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक आशुतोष कुमार सिंह ने इस अनूठी पहल के लिए फार्मासिस्ट जीतेन्द्र शर्मा को साधुवाद देते हुवे देश भर के फार्मासिस्टों से भी इसी तरह थोड़ी छूट देने कि अपील की है.

फार्मासिस्ट जीतेन्द्र शर्मा के समर्थन में सिंहभूम फार्मासिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने कहा की जमशेदपुर समेत समस्त झारखण्ड में फार्मासिस्टों द्वारा संचालित फार्मेसी में बेटियों के जन्म पर छूट देने की अपील करेंगे। कार्यक्रम में शशि सिंह, अनिल साहू , छोटन सिंह, मणि महंती समेंत दर्जनो लोग मौजूद थे.