उप-राष्‍ट्रपति ने कर्नाटक में ‘शौचालय के लिए समर’ का उद्घाटन किया

नई दिल्ली/26.9.17

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने  कर्नाटक में ‘स्‍वच्‍छता ही सेवा’ और ‘शौचालय के लिए समर’ कार्यक्रम का उद्घाटन किया। वे हुबली में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि थे।

इसके बाद उपराष्‍ट्रपति श्री वेंकैया नायडू गडग जिले के नरगुण्‍ड तालुका में कोन्‍नुर गांव गए जहां उन्‍होंने कचरा प्रसंस्‍करण की शुरुआत की। उन्‍होंने परिष्‍कृत पेयजल संयंत्र का भी उद्घाटन किया और गांव की जनता कॉलोनी स्थित उच्‍च विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम ‘शौचालय के लिए समर’ के दौरान एक जन सभा को संबोधित किया।

The Vice President, Shri M. Venkaiah Naidu lighting the lamp to inaugurate ‘Swachhta Hi Sewa’ and ‘A Crusade for Toilets’ Programmes under Swachh Bharat Abhiyan, at Konnur Village, Gadag District, Karnataka on September 26, 2017.
The Governor of Karnataka, Shri Vajubhai Vala, the Minister of State for Drinking Water & Sanitation, Shri Ramesh Chandappa Jigajinagi and the Minister of Rural Development & Panchayat Raj, Karnataka, Shri H.K. Patil are also seen.

 

इस मौके पर उप-राष्‍ट्रपति ने स्‍वच्‍छता को जन आंदोलन बनाने की जरूरत पर जोर दिया। उन्‍होंने तालुका, जिला और राज्‍य की इस संदर्भ में किए गए अच्‍छे काम की सराहना की। उन्‍होंने मौजूद सभी लोगों से स्‍वच्‍छता से जुड़ी गतिविधियों में हिस्‍सा लेने का आग्रह किया और कहा कि स्‍वच्‍छ भारत मिशन एक राष्‍ट्रीय कार्यक्रम है न कि किसी खास राजनीतिक दल का। उन्‍होंने असाधारण योगदान कर रहे साधारण लोगों के कई उदाहरण दिए जिसमें कर्नाटक की सुश्री लावण्‍या का भी जिक्र किया जिसने शौचालय बनाने के लिए अपने अनिच्‍छुक परिवार को राज़ी कराया और उसके बाद पूरे गांव को शौचालय बनाने के लिए प्रेरित किया। उपराष्‍ट्रपति ने इस बात की भी प्रशंसा की कि कई युवा महिलाएं अब शादी से पहले अपने ससुराल में शौचालय की मांग करने लगी हैं।

इस मौके पर उपराष्‍ट्रपति ने 13 ग्रामीण पंचायत अध्‍यक्षों और ‘शौचालय के लिए समर’ का लक्ष्‍य हासिल करने वाले नरगुण्‍ड तालुका पंचायत अध्‍यक्ष को भी सम्‍मानित किया। उन्‍होंने नरगुण्‍ड तालुका के ग्रामीण इलाके को ‘‘खुले में शौच से मुक्‍त’’ क्षेत्र घोषित किया।

कर्नाटक के राज्‍पाल श्री वज्‍जुभाई रुडाभाई वाला ने कर्नाटक से स्‍वच्‍छता ही सेवा अभियान शुरू करने के लिए उपराष्‍ट्रपति का धन्‍यवाद देते हुए अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने भारत सरकार का नारा ‘सबका साथ, सबका विकास’ की लय में एक-दूसरे की देखभाल करने पर जोर दिया। उन्‍होंने कहा कि दूसरे की देखभाल के लिए हमें स्‍वच्‍छ भारत की दिशा में खुद ही पहल करने की जरूरत है।

पेयजल और सफाई राज्‍यमंत्री श्री रमेश जिगाजिनागी ने इस मौके पर राज्‍य सरकार को बधाई दी और स्‍वच्‍छता ही सेवा अभियान के महत्‍व पर जोर दिया। उन्‍होंने जोर देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के हाल ही के अपने दौरे में प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने शौचालय का नाम ‘इज्‍जत घर’ रखने की अनुशंसा की है।

कर्नाटक के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्‍य मंत्री श्री एच के पाटिल ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत राज्‍य सरकार द्वारा किए गए कामों के बारे में बताया और कहा कि राज्‍य और राष्‍ट्र दोनों स्‍वच्‍छ एवं खुले में शौच से मुक्‍त होने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं।

पेयजल एवं सफाई मंत्रालय में सचिव श्री परमेश्‍वरन अय्यर ने जन सभा का स्‍वागत करते हुए स्‍वच्‍छ भारत मिशन की राष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रगति के बारे में बताया और मिशन के लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा में कर्नाटक सरकार द्वारा किए जा रहे बेहतरीन काम की प्रशंसा की।

इस मौके पर सांसद श्री पीसी गड्डीगौदर और नरगुण्‍ड के विधायक श्री बी आर यवगल भी मौजूद थे।

सोर्स-http://pib.nic.in/newsite/PrintHindiRelease.aspx?relid=67335

फोटो क्रेडिट-http://pib.nic.in/newsite/photo.aspx?hflag=1

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *