समाचार

…और ADC आ गए टेंशन में

जोधपुर /03.11.2015

लगता है जोधपुर के फार्मासिस्टों ने ठान ही लिया है की ड्रग डिपार्टमेंट को सुधार कर ही दम लेंगे। आज तड़के अभिनव फार्मासिस्ट अभियान के संयोजक सुरेन्द्र चौधरी एक बार फिर अपने सहयोगी अभिनव फार्मासिस्ट साथियों के साथ एडिशनल ड्रग कंट्रोलर के ऑफिस में जा धमके। गर्मागर्म बहस के बीच अभिनव फार्मासिस्ट अभियान के कार्यकर्ताओं ने अधिकारीयों को रिश्वत ना लेने की चेतावनी दी ।साथ ही ड्रग ऑफिस के ड्रग लाइसेंस जारी करने की अवधी और शुल्क की जानकारी बाहर बोर्ड पर टांगने हेतु जनादेश दिया ।

क्या है मामला 

जोधपुर में अभिनव फार्मेसी अभियान के तहत औषधि नियंत्रण प्रशासन में फैले भ्रष्टाचार पर नकेल कसने की कवायद चल रही है । इस अभियान में सुचना के अधिकार के प्रयोग के साथ फार्मासिस्ट साथियों को जागरूक भी किया जा रहा है । अभिनव फार्मेसी अभियान के प्रवक्ता विनोद नारिया ने बताया की पिछले बार अधिकारीयों को लेकर बगैर फार्मासिस्ट चल रही दवा दुकानों पर छापेमारी करवाई गयी थी। कुछ दिन तो ठीक ठाक चला फिर दवा दुकानों ने मनमानी शुरू कर दी और अधिकारीयों ने निरिक्षण करना छोड़ दिया। इसी को लेकर आज एक बार फिर एडीसी कार्यालय का घेराव कर अधिकारीयों को व्यवस्था सुचारू रूप से चलाने हेतु जनादेश दिया गया।

अफसर सुचना देने में करते है आनाकानी

सुरेन्द्र चौधरी ने बताया की जोधपुर संभाग में जारी किये गए ड्रग लाइसेंस की प्रति की मांग एडीसी से की गयी थी । सुचना  के एवज़ में अधिकारीयों ने 6 हज़ार रूपये जमा करने के निर्देश दिए थे। फार्मासिस्ट जब राशि जमा करने पहुंचे तो अधिकारी टालमटोल करने लगे इसपर फार्मासिस्टों ने जोधपुर ड्रग कंट्रोल के अधिकारीयों की क्लास लगा दी ।

अधिकारीयों के होश उड़े 

कार्यालय में अचानक आ धमके फार्मासिस्टों ने आते ही हंगामा शुरू कर दिया। अधिकारीयों को दो टूक चेतावनी देते हुवे सुरेंदर चौधरी ने बगैर फार्मासिस्ट चल रही सारी दवा दुकान को बंद करने की मांग दोहराई । फार्मसिस्टों के तल्ख़ तेवर देखकर अधिकारीयों के होश उड़ गए।

अधिकारीयों की क्लास लगाते सुरेंदर चौधरी व अन्य
अधिकारीयों की क्लास लगाते सुरेंदर चौधरी व अन्य

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

अपर जिलाधिकारी से मिले 

एडीसी कार्यालय से निकलकर अभिनव फार्मासिस्टों की टोली सीधे जिलाधिकारी से मिलने गए ! कलेक्टर की अनुपस्थिति में अपर जिलाधिकारी ने फार्मासिस्टों की शिकायतों को ध्यान से सुना और कलेक्टर ने मिलवाने हेतु समय सुनिश्चित करने हेतु आस्वासन दिया ।

जारी रहेगा अभियान 

विनोद नरिया ने स्वस्थ भारत डॉट इन को बताया की जोधपुर समेत पुरे राजस्थान में फार्मासिस्ट के सर्टिफिकेट को किराये पर लेकर दवा दुकानें संचालित होती है । ड्रग ऑफिस के बाबू और अधिकारी दुकानदारों से उगाही करते है करवाई के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। अभिनव फार्मेसी अभियान का जनआंदोलन तबतक चलेगा जबतक बगैर फार्मासिस्ट दवा दुकानों को बंद नहीं किया जाता ।

 

स्वास्थ्य जगत की ख़बरों के लिए स्वस्थ भारत अभियान के पेज को लाइक कर दें.

यदि लेख/समाचार से आप सहमत है तो इसे जरूर साझा करें
Vinay Kumar Bharti
विनय कुमार भारती देश के जाने में आरटीआई एक्टिविस्ट हैं. फार्मा सेक्टर में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ स्वस्थ भारत अभियान के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। फार्मासिस्टों के अधिकार की लड़ाई को आगे बढ़ाने हेतु इन दिनों वे दिल्ली में प्रवास कर रहे हैं। संपर्कःvinayk@zindagizindabad.com

One thought on “…और ADC आ गए टेंशन में”

प्रातिक्रिया दे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.