समाचार

कर्मचारियों ने किया स्वास्थ्य भवन का घेराव

लखनऊ/ 09.08.2016

नौकरी में प्रमोशन, वेतन बढ़ोतरी, नए पदों का सृजन समेंत कई मांगो को लेकर संयुक्त चिकित्सा कर्मचारी संघ के तत्वाधान में हज़ारों की संख्या में स्वास्थ्य कर्मचारियों ने स्वास्थ्य भवन का घेराव किया ! यह कोई पहला वाकया नहीं की कर्मचारियों ने स्वास्थ्य भवन का घेराव किया हो इससे पहले भी फार्मासिस्ट व अन्य कर्मचारी संगठन कई बार मुख्यालय में ताले जड़ चुके हैं ! बताते चलें कि कर्मचारी वर्षों से लंबित अपनी मांगो को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं !

स्वास्थ्य भवन का घेराव करते फार्मासिस्ट
स्वास्थ्य भवन का घेराव करते फार्मासिस्ट

 
स्वस्थ भारत डॉट इन से बात करते हुवे डीपीए के अध्यक्ष संदीप बडोला ने बताया की शाशन ने कर्मचारियों को हर बार गुमराह करने का काम किया है ! उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुवे कहा कि अधिकारियों ने नियमो को ताक पर रखते हुवे तबादले किए !  संयुक्त चिकित्सा कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अशोक कुमार  ने कहा कि लंबे समय से प्रमोशन की फ़ाइल जान बुझ कर रोकी जा रही है ! अगर सरकार प्रमोशन कर देती है तो नीचे के रिक्त पदों पर नई नियुक्ति की राह आसान हो जाएगी !
छावनी बना स्वास्थ्य भवन परिसर 
अचानक ही स्वास्थ्य कर्मियों की बढ़ती संख्या को देखते हुवे मौके पर पहुँची पुलिस ने उन्हें मानाने की काफी कोशिश की पर कर्मचारी अपनी मांगो  को लेकर डटे  रहे ! इसबीच कुछ फार्मासिस्टों से तीखी बहस भी हुई.
पुलिस वालों से उलझते कर्मचारी फार्मासिस्ट
पुलिस वालों से उलझते कर्मचारी फार्मासिस्ट

पहले ऑफिस छोड़ कर भागे फिर लौटे डीजी हेल्थ
स्वास्थ भवन मुख्यालय का ऑफिस खुलते ही विभिन्न जनपदों से लखनऊ पहुचे तमाम स्वास्थ्य कर्मचारियों ने गेट पर जाम लगा दिया ! सीढियाँ , कॉरीडोर समेंत पूरा भवन कर्मचारियों ने घेर रखा था ! मौका देख डीजी हेल्थ डॉ. सुनील श्रीवास्तव भागने की कोशिश की पर कर्मचारियों ने उन्हें घेर लिया ! सूत्रों के अनुसार थोड़ी बहस के बाद डीजी वापस अपने चेम्बर घुसे और बातचीत पर हामी भरी ! अबतक मिली खबरों के अनुसार डीजी ने अगस्त महीने के आखिर तक कर्मचारियों की तमाम मांगो को पूरा करने आश्वाशन दिया है !
 कार्यालय से भागने की कोशिश में डीजी डॉ. अनिल श्रीवास्तव

कार्यालय से भागने की कोशिश में डीजी डॉ. अनिल श्रीवास्तव

 
स्वस्थ जगत की खबरों से अपडेट रहने के लिए स्वस्थ भारत अभियान फेसबुक पेज को लाइक कर सकते हैं

Related posts

तो डॉक्टर साहब नहीं लिख पायेंगे घसीट लिपि!

swasthadmin

कुदरती ईलाज़ का महत्व

Amit Tyagi

ड्रग कंट्रोलर के दफ्तर में लगी आग हादसा नहीं – विवेक मौर्य

swasthadmin

Leave a Comment