फार्मा सेक्टर

PCI के वाइस प्रेसिडेंट शैलेन्द्र सराफ ने संभाली अभियान की कमान

छात्रों के साथ छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष राहुल वर्मा
छात्रों के साथ छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष राहुल वर्मा

3 फरवरी2017/ रायपुर:
रिटेल की तर्ज़ पर होलसेल में भी फार्मासिस्ट की अनिवार्यता को लेकर देश के कोने कोने से फार्मासिस्ट स्वास्थ्य मंत्रालय को समर्थन पत्र भेज रहे हैं. इसी क्रम में आज देश के बड़े फार्मासिस्ट संस्थानों में एक पंडित रविशंकर यूनिवर्सिटी में आज छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने अभियान चला कर हज़ारों की संख्या में पत्र एकत्रित किया. अभियान का नेतृत्व कर रहे सीजीवाईपीए के अध्यक्ष राहुल वर्मा ने बताया कि दवा सिर्फ कारोबार नही है, यह आमलोगों के जीवन से जुड़ा मसला है. जबकि सरकार ने दवाई के देखरेख व वितरण के लिए ड्रग एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, फार्मेसी एक्ट और फार्मेसी प्रेक्टिक्स रेगुलेशन बनाया है. एक्ट में यह स्पस्ट प्रावधान है कि दवा वितरण फार्मासिस्ट के हाथों ही किया जाना है. राहुल ने बताया कि पुरे छत्तीसगढ़ में दसवीं फेल दवा कारोबारी दवा वितरण का कार्य कर रहे हैं . उन्होंने के ड्राफ्ट का स्वागत करते हुवे कहा की होलसेल में फार्मासिस्ट की अनिवार्यता से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. 
 
पीसीआई चेयरमैन के साथ के सदस्य और फार्मेसी के स्टूडेंट्स
पीसीआई चेयरमैन के साथ के सदस्य और फार्मेसी के स्टूडेंट्स

फार्मासिस्ट के हक़ की लड़ाई में साथ मिलकर लड़ेंगे – शैलेन्द्र सराफ
पंडित रविशंकर यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर और फार्मेसी काउंसिल ऑफ़ इंडिया के वाईस चेयरमैन शैलेन्द्र सराफ ने छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन के सदस्यों का उत्साह बढ़ाते हुवे कहा कि हम सब पहले एक प्रोफेशनल फार्मासिस्ट है फिर पदाधिकारी. शैलेन्द्र सराफ ने कहा यह लड़ाई हम सबकी लड़ाई है और हम साथ मिलकर लड़ेंगे. शैलेन्द्र ने प्रथम दृष्ट्या ड्रग टेक्निकल एडवाइज़री बोर्ड के ड्राफ्ट का स्वागत तो किया पर उन्होंने अबतक बने ड्रग लाइसेंस पर भी नए एमेंडमेंट प्रभावी करने की बात कही. स्वास्थ्य मंत्रालय को लिखे पत्र में सभी छात्रों और फैकल्टी ने सहमती के साथ आप्पति जताते हुवे पुराने बने लाइसेंस में भी फार्मासिस्ट अनिवार्यता के लिए लिखा है.
मंत्रालय को लिखे पत्र दिखाते कोलंबिया कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी के छात्र
मंत्रालय को लिखे पत्र दिखाते कोलंबिया कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी के छात्र

रायपुर के अन्य फार्मेसी कॉलेजों ने भी दिया समर्थन  
इधर जहाँ एक तरफ  राहुल वर्मा के नेतृत्व में CGYPA के कार्यकर्ता पंडित रविशंकर यूनिवर्सिटी में अभियान चला रहे थे, वही वैभव शास्त्री व अन्य कार्यकर्ताओं ने कोलंबिया कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, रावतपुरा कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, रॉयल कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, आईओपी समेत कई कॉलेज में कैम्पैन कर हज़ारों की संख्या में सुझाव व आपत्ती पत्र कलेक्ट कर मंत्रालय को भेजा.
बतातें चलें कि छत्तीसगढ़ युथ फार्मासिस्ट एसोसिएशन लंबे समय से ड्रग एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट के उलंघन को लेकर अभियान चला रहा हैं .
 
 

Related posts

फार्मासिस्टों की भूख हड़ताल दूसरे दिन भी जारी, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर ही रखेंगे अपनी बात

swasthadmin

छत्तीसगढ़ एफडीए के खिलाफ फार्मासिस्टों की हल्ला बोल रैल्ली दस को

Vinay Kumar Bharti

स्वस्थ भारत (न्यास) का तृतीय स्थापना दिवस के अवसर पर होगी जेनरिक दवाइयों की बात, मुख्य अतिथि विपल्व चटर्जी का होगा उद्बोधन

swasthadmin

2 comments

RAHUL VERMA February 3, 2017 at 8:06 pm

ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट मे किया जा रहा यह बदलाव फार्मेसी प्रोफेसन के लिये एक मिल का पत्थर साबित होगा ।

Reply
p.c.kothari February 3, 2017 at 8:27 pm

welcome saraf saheb joining hands with working pharmacists move, pharmacy act shoud be strictly implemented.

Reply

Leave a Comment