• Home
  • समाचार
  • आयुष चिकित्सकों को मिल सकता है एलोपैथी का अधिकार
समाचार

आयुष चिकित्सकों को मिल सकता है एलोपैथी का अधिकार

झाबुआ (मप्र)

मुख्यमंत्री से बात करते डॉ. लोकेश दवे
मुख्यमंत्री से बात करते डॉ. लोकेश दवे

आनेवाले दिनों में मध्य प्रदेश में आयुष चिकित्सकों को एलोपैथी दवा लिखने का अधिकार मिल सकता है। विगत दिनों में ही प्रांतीय होम्योपैथिक चिकित्सक संघ के प्रतिनिधि मंडल ने मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज चौहान से मुलाकात कर ज्ञापन दिया। आयुष चिकित्सकों ने सीएम को आयुष चिकित्सकों को कुछ आवश्यक एलोपैथी दवा लिखने के अधिकार, वेतन विसंगतियों समेत अन्य समस्याओं को सीएम के सामने रखा है। सीएम ने जल्द ही निराकरण का आश्वासन दिया  उन्होंने भरोषा दिया है आवश्यक एलोपैथी दवा के अधिकार पर जल्द ही प्रस्ताव कैविनेट में लाया जाएगा। शिवराज चौहान ने आयुष चिकित्सकों के प्रयासों को खूब सराहा ।
महाराष्ट्र में आयुष चिकित्सकों को मिला है एलोपैथी प्रैक्टिस का अधिकार
महाराष्ट्र शासन ने बतौर गैज़ट नोटिफिकेशन जारी कर आयुष चिकित्सकों को एलोपैथी दवा लिखने के अधिकार दिए है। वहां आयुर्वेदिक, होम्योपैथी आयुर्वेदिक, और यूनानी चिकित्सक एलोपैथी दवा लिख सकते है।

सरकार गठन के समय ही 100 दिवसीय कार्य योजना बनाई थी जिसमे प्रदेश के  आयुष चिकित्सकों को कुछ आवश्यक एलोपैथी दवाओं को लिखने की अनुमती देने का प्रस्ताव था अबतक सरकार अपनी योजनाओं में पिछड़ती जा रही है प्रदेश में करीब 20 हज़ार होमिओपैथी चिकित्सक है जिसमे महिलाओं की संख्या भी काफी है अगर सरकार हमें कुछ आवश्यक एलोपैथी दवाएं लिखने की अनुमती दे देती है तो इससे मरीज़ों को इलाज़ करना सुलभ हो जाएगा । यह बातें डॉ. लोकेश दवे ने स्वस्थ भारत डॉट इन से विशेष बातचीत में कही ।

राज्य सरकार फैसले लेने को स्वतंत्र है
आयुष मंत्री श्री पद नाइक ने हमेशा से ही आयुष चिकित्सकों को कुछ आवश्यक दवाओं को लिखने की वकालत करते रहे है लोक सभा में अपने दिए उत्तर में उन्होंने स्पस्ट किया था कि राज्य सरकार अगर चाहे तो फैसला ले सकते है श्रीपद नाइक ने स्वस्थ मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा है .
 
सम्बंधित ख़बरें :
पीएचसी, सीएचसी में हो नियमित नियुक्तिः डॉ. लोकेश दवे

होम्योपैथी से सम्भव है कैंसर का इलाज

अपनी बदहाली पर रो रहा है 90लखिया होम्योपैथी लैब, पांच वर्ष गुजर गए एक भी कर्मचारी नहीं बहाल हुआ
 
स्वस्थ्य जगत से जुडी खबरों से अपडेट रहने के लिए स्वस्थ भारत अभियान के पेज लाइक कर दें !
 

Related posts

आयुष चिकित्सकों को केज़रीवाल सरकार ने दिया झटका!

Vinay Kumar Bharti

अपने अधिकारों के लिए एकजुट हुए फार्मासिस्ट  

swasthadmin

स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज पर एक दिवसीय सेमिनार 21 जून को

swasthadmin

3 comments

Dr. Kanchan Singh (Surgeon) November 7, 2015 at 10:21 am

Yesterday few cobbler came to me and told that we want right to do surgery if AYUSH can prtescribe allopathic drugs without studying Pharmacology we can also make good stiches.

Reply
Dr. Kanchan Singh (Surgeon) November 7, 2015 at 10:27 am

If AYUSH will not respect their medicine system then who will respect them. I strongly support to this right to pharmacist because a good pharmacist have sound knoledge of allopathic medicines more than a physician

Reply
Dr lokesh dave November 15, 2015 at 3:00 pm

I guarantee there is no dr kanchan singh
Fake id and fake msg

Reply

Leave a Comment

Login

X

Register